जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

मंगलवार, 22 जून 2010

पारिवारिक सदस्यों द्वारा भाग्य चमकाएं..

कभी- कभी अधिक परिश्रम करने पर भी उचित फल प्राप्ति नहीं होती, बल्कि व्यर्थ की यात्राऔ आदि में धन व समय नष्ट होता है। अधिक संकटो का सामना करना पङता है। मित्र, संबधी विरोधी हो जाते हैं। इन सबका कारण ज्योतिष एवम वास्तु शास्त्र में बहुत है शास्त्रानुसार जातक का किसी परिवार विशेष में जन्म लेना, उसके पूर्व जन्मों के कर्मो व प्रारब्ध के अनुसार निर्धारित रहता है। तथा उसका भाग्य उस परिवार के प्रत्येक सदस्य के साथ किसी न किसी रूप में जुङा रहता है। जातक के जन्म के साथ ही अनेक रिश्तों का जन्म होता है। जैसे, माता, पिता, भाई, बहन, चाचा, मामा इत्यादि। कुण्डली अनुसार सूर्य आत्मा कारक है तो चंद्रमा मन का कारक होता है उसी प्रकार से घर के क्या अपने कुल के प्रत्येक सदस्य का किसी न किसी रूप से पिछले जन्म का सम्बन्ध इस वर्तमान जन्म से होता है. वेद और शास्त्र हमे भाग्य का गुलाम नहीं बनाते है बल्कि हमे कष्टों से बचने का मार्ग देते है  मनुष्य भाग्य का गुलाम नहीं है, वह स्वंय अपने भाग्य का निर्माता है। वास्तव में यह शास्त्र हमें भाग्यवादी नहीं बनाता है। और जन्म कुण्डली भी झूठे सपने नहीं दिखाती अपितु हमे कर्म का मार्ग बताती है तथा हमारे पिछले जन्मों के पाप एवम पुण्यों द्वारा स्पष्ट करती है कि हम क्या क्या कर्म रुपी उपाय करे जिससे हमारी बाधाए समाप्त हों उपाय क्या है उपाय भाग्य को नहीं बदल सकते उपाय मात्र हमारा रास्ता आसान करते है बरसात को तो हम रोक नहीं सकते लेकिन छाता लेकर बचाव कर सकते है इसी को उपाय कहते है उपाय ग्रहों का भी होता है कुण्डली में प्रत्येक ग्रह किसी न किसी सम्बन्धी का प्रतीक माना गया है.
कुण्डली में बारह भावों की गणना होती है एक से लेकर बारह भाव किसी न किसी परिवार के सदस्य को संबोधन करता है जैसे कुण्डली में पहला घर मनुष्य के अपने स्वास्थ्य कष्ट स्वभाव और उसके व्यक्तित्त्व को बतलाता है दूसरा घर परिवार तथा आर्थिक स्थिति का होता है तीसरा घर छोटे भाई बहनों की जानकारी देता है चचेरे भाई बहन व देवरानी के बारे में भी बताता है चौथा भाव या घरमाता का स्थान है. पांचवें घर से हम दादा का सुख और अपनी सन्तान का विचार करते है छठे घर को मामा से जोड़ कर विचार करते है सातवां घर पत्नी व्यापार में भागीदार के रूप में लेते है आंठवा घर ससुराल और नौवां घर पिता का होता है धर्म गुरु पोते छोटे भाई की पत्नी का विचार भी इसी नवम घर से करते है दशम भाव भी पिता से सम्बंधित है ग्यारवें भाव से हम बड़े भाई बहन बुआ चाचा तथा द्वादश घर से खर्च हानि तथा देविक शक्ति का विचार किया जाता है इन बारह भावों में बारह राशियाँ -मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुम्भ, मीन तथा नौ ग्रह सर्य, चद्रँमा, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि यह केतु व्यवस्थति रहते हैं।  इन नव ग्रहौं के भी अलग- अलग कार्य तथा प्रभाव क्षेत्र हैं। ये नव ग्रह गोचरानुसार  इन 12 राशियों को प्रभावित करते रहते हैं। समय.-समय पर इन ग्रहें के पङने वाले दुष्प्रभावों के कारण मनुष्य कभी- कभी अनेक प्रकार की परेशानियाँ, बिमारियां, मानसिक कष्टों से ग्रस्त हो जाते है। कभी- कभी पूर्व जन्मों के ऋण भी मनुष्य की तरक्की, भागोदेय आदि में बाधा ङालते हैं। यदि जातक स्वयं शारिरिक रुप से अस्वस्थ रहता है तथा अस्वस्था के कारण अपनी उन्नति व सफलता के लिए संधर्ष न कर पा रहा हो तो यह जातक के स्वयं का ऋण होता है। उपाय स्वरूप जातक को जिन व्यक्तियों से उसका खून का रिश्ता है, उनसे थोङा-थोङा धन एकत्र करके यञादि करना चाहिए। साथ ही दीन- दुखियों की सेवा भी करनी चाहिए । जातक के स्वयं किए गये मंत्र, जाप, दान आदि करने से उचित परिणाम मिलते है।
कभी- कभी अधिक परिश्रम करने पर भी उचित फल प्राप्ति नहीं होती, बल्कि व्यर्थ की यात्राऔ आदि में धन व समय नष्ट होता है। अधिक संकटो का सामना करना पङता है। मित्र, संबधी विरोधी हो जाते हैं। इन सभी लक्षणों के साथ यदि कुङली में तृतीय भाव भी प्रभावित है तो जातक पर बहन ऋण होता है। इसके उपाय स्वरुप अपनी छोटी बहन की उचित सेवा, सहायता करनी चाहिए। बहन का कन्या दान करें। साथ ही दीन- दुखियों को भोजन कराने से मुक्ति मिलती है।कभी- कभी अधिक परिश्रम करने पर भी उचित फल प्राप्ति नहीं होती, बल्कि व्यर्थ की यात्राऔ आदि में धन व समय नष्ट होता है। अधिक संकटो का सामना करना पङता है। मित्र, संबधी विरोधी हो जाते हैं। इन सभी लक्षणों के साथ यदि कुङली में तृतीय भाव भी प्रभावित है तो जातक पर बहन ऋण होता है। इसके उपाय स्वरुप अपनी छोटी बहन की उचित सेवा, सहायता करनी चाहिए। बहन का कन्या दान करें। साथ ही दीन- दुखियों को भोजन कराने से मुक्ति मिलती है।आर्थिक समस्याओं के कारण बार -बार कर्ज लेना, रोगों व शत्रुओं का उत्पन्न होना साथ ही कुङली का छठा भाव भी प्रभावित जातक पर ननिहाल व मामा का ऋण प्रकट करता है। अतः उपाय स्वरुप मामा का उचित सम्मान करें तथा कार्य मामा की सलाह से करें तो उपरोक्त परेशानियों का निवारण होता है। यदि साझेदारी से किये व्यापार में हानि होती है, सफलता न मिलती हो, परिवार के मांगलिक कार्यो में व्यवधान पङ रहा हो तो साथ ही सप्तम भाव भी पीङित हो तो यह प्रदर्शित होता है कि घर की स्त्रियों को उचित सम्मान नही मिल रहा है। जिसे स्त्री ऋण भी कहते हैं। उपाय स्वरुप पत्नी तथा परिवार की अन्य स्त्रियों का उचित सम्मान करें। साथ ही किसी निर्धन कन्या का विवाह करें। बहुत अधिक मेहनत करने के बाद भी भाग्य साथ न दे रहा है । उच्च शिक्षा प्राप्ति में व्यवधान, सरकारी कार्यो में परेशानियां, मानहानि, सामाजिक व आर्थिक परेशनियां आदि लक्षण प्रकट हो रहे हो तो इसके सबसे कारगार उपाय हैं, पिता व गुरू की सेवा तथा छोटे भाई की पत्नी का उचित सम्मान करें। माता- पिता व गुरूजनों की सेवा दारा प्रसन्न करके लिया गया आर्शीवाद कभी भी निष्फल नही होता। बङे भाई- बहन, बुआ, चाचा आदि का किया गया मान- सम्मान, आदर, सत्कार व्यवसाय में लाभ का मार्ग प्रशस्त करता है।
इस प्रकार ग्रहों के कुप्रभावों के दारा परेशान व्यक्ति बिना कुछ खर्च किए सेवा भाव के दारा अपने ग्रहों के अशुभ प्रभाव के कम कर सकता है और सुखद जीवन य़ापन कर सकता है।

34 टिप्‍पणियां:

  1. बेनामी8/12/2011 12:23 pm

    gr m hr person ka ki na ki gr harb hata hi es k lay ka karan chiay

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेनामी जी, आप कृपया अपना प्रश्न साफ़ साफ़ लिखे कि आप क्या पूछना चाहते है.इसमें कुछ समझ नहीं आ रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेनामी2/25/2012 1:00 pm

    sir meri date of birth 30-10-1989 hai kisi pandit ne mujhe panna stone dharan krne ke liye bola hai kya me panna dharan kr sakta hu mera subh

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपने अपने जन्म का समय और स्थान तो लिखा ही नहीं कृपया समय और स्थान अवश्य लिखें..

      हटाएं
  4. pandit ji namaskar
    mera naam mohit rana hai date of birth 27july,1989 time 12:15pm karnal(haryana) hai mera acha time kab chalega

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप को जन्मकुंडली अनुसार राहू की महादशा चल रही है अतः आप राहू की शान्ति अपने विद्वान पंडित जी के निर्देश अनुसार करवाएं तथा भाग्येश बुध का रत्न पन्ना धारण करें तो शीघ्र ही भाग्योदय होगा

      हटाएं
  5. sir meri dob 18-apr-1973 time 19:11 place fatehpur(raj).main yeh puchna chahta hoon ki kya abhicar karam hota hain.meri kundli se yeh pata lag sakta hain kya main abhicar karam se presan hoon kya.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जी हाँ अभिचार कर्म अवश्य होता है और आपकी जन्मकुंडली के अनुसार आपके ऊपर अभिचार कर्म जैसा कुछ नही है नही है

      हटाएं
  6. Anil Ji...
    Meri DOB 28.09.1987 07.35am hai... mere sath abhi kuch bhi sahi nai chal raha hai.. please koi upaye bataiye.. or meri madad kiziye..
    or meri shadi love mrrg hogi ya arrnge, me bahut pareshan hun apni zindagi se
    please mujhe koi rasta bataiye... me apka bahut bahut aabhari rahunga...

    ashish kumar soni

    उत्तर देंहटाएं
  7. Sir, Mera Naam Manju hai, date of birth 20 Nov 1979, janam sthan Delhi and time subah 4 se 5 baje ke beech ka hai. Main govt job mein interested hun. Please mera subh ratan aur naukri ki possibility batayen. Dhanyavad...

    उत्तर देंहटाएं
  8. Pandit ji, Mera naam Manjeet Kumar, Date of Birth 22 Dec 1975, Place of Birth Haryana hai. Birth ka time exactly nahi pata hai. Presently I am serving in Defence Services and completed 20+ years of service. I am planning to take retirement in Apr 2015. Please tell me whether it will be appropriate to quit at that time and also tell me about future settlement of service and life, financial soundness. Sahardh DHanyavad...

    उत्तर देंहटाएं
  9. मुझे मेरी जन्मतिथि नहीं मालूम है क्या ज्योतिष में ऐसा कोई विधान है जिस से मई मेरी जन्मतिथि पता कर सकू

    उत्तर देंहटाएं
  10. मुझे मेरी जन्मतिथि नहीं मालूम है क्या ज्योतिष में ऐसा कोई विधान है जिस से मई मेरी जन्मतिथि पता कर सकू

    उत्तर देंहटाएं
  11. mere dada g gujar gaye or unke 10ve ko sub ne bal katwaya to fir2bara bal na katne se koi problam hota ha ya nahi ?

    उत्तर देंहटाएं
  12. शर्मा जी प्रणाम
    मेरी डीओबी 25 03 1980 समय 21;30 hardoi up है हमारे साथ हमेसा से एक सम्सया पीछा नही छोडती है
    हककिसी का भला करने केलिए या उधार पैसा दे देते तो या तो वापस नहीमिलता या फिर वापवस लेने केलिए काफी कोशिस करनी पडती है क्या कुंडली के भाव 1 2 12 खाली है या फफिर कोई और कारण उपाय के साथ समाधान करने की कृपा करे आशीर्वााद की आस में राम मिश्र

    उत्तर देंहटाएं
  13. शर्मा जी प्रणाम
    मेरी डीओबी 25 03 1980 समय 21;30 hardoi up है हमारे साथ हमेसा से एक सम्सया पीछा नही छोडती है
    हककिसी का भला करने केलिए या उधार पैसा दे देते तो या तो वापस नहीमिलता या फिर वापवस लेने केलिए काफी कोशिस करनी पडती है क्या कुंडली के भाव 1 2 12 खाली है या फफिर कोई और कारण उपाय के साथ समाधान करने की कृपा करे आशीर्वााद की आस में राम मिश्र

    उत्तर देंहटाएं
  14. pranam pandit ji
    meri date of birth 14/03/1974 hai i don't know correct time . around 3p.m. to 4p.m.
    mera name kinderjit kaur hai my husband parampreet singh malhi . mera 3 kids hai
    1 son 2 daughters .3-4 sal se hum bahut preshan hai . hum log work karke hai but kush proffit nahi milta
    hamara bahut nuksan hota hai. finance ki bahut problem aati hai .please aap hume sahi rasta btaye ki hume kya karna chaheye
    thanks

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कृपया अपना जन्म स्थान लिखें तथा सबसे छोटे बच्चे की जन्म तारीख, समय और स्थान भी बताएं ...

      हटाएं
  15. pranam pandit ji
    meri date of birth 14/03/1974 hai i don't know correct time . around 3p.m. to 4p.m.
    mera name kinderjit kaur hai my husband parampreet singh malhi . mera 3 kids hai
    1 son 2 daughters .3-4 sal se hum bahut preshan hai . hum log work karke hai but kush proffit nahi milta
    hamara bahut nuksan hota hai. finance ki bahut problem aati hai .please aap hume sahi rasta btaye ki hume kya karna chaheye
    thanks

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कृपया अपना जन्म स्थान लिखें तथा सबसे छोटे बच्चे की जन्म तारीख, समय और स्थान भी बताएं ...

      हटाएं
  16. Pandit Ji ko Sadar Pranam.

    Pandit ji mera naam yogesh kapoor hai main delhi se hu. Main job karta hu kafi saal ho chuke hai meri unati nahi ho pa rahi hai ek to job mushkil se milti hai aur milti hai to unati nahi ho paati meri salary bhi bahot kam hai graduation ki hai saath hi diploma in mechanical bhi hu main HVAC Draftsman hu building me air conditioning ducting ki designing karta hu is line me aaye hue 2 saal hue hai pahle bhi karta tha designing par koi aur line thi. Pandit ji aapse jaana chahta hu ke mere liye business hi thik hai ya naukri kisi ne mujhe bola hai ke properties line me kaam karo business karo kya karu samaj me nahi aata (Ke vyapar kon sa karu naukri me unati nahi ho pa rahi hai.) kadpde ka kaam karu ya koi aur jisme mera bhagaya ude ho. meri shaadi pichale saal ho chuki hai aur main is saal pita bhi ban gaya hu. Mera Marg Darshan Kijiye Pandit Ji.

    DOB - 25/10/1982

    Place of Birth - Delhi

    TOB - 18:50 pm


    Pandit ji marg darshan kijiye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार अभी जून 2014 तक कार्य / जॉब सम्बन्धी परेशानी रहेगी इसके बाद ही काम में स्थिरता आएगी आपकी जन्म कुंडली अनुसार आपको जॉब/नौकरी में ही लाभ होगा व्यापार में हानि होगी लेकिन पार्ट टाइम आप अपना काम कर सकते हो उसमें फायदा होगा लेकिन जॉब अनिवार्य है प्रापर्टी और कपड़े का काम बिलकुल आपको अनुकूल नही आयेंगे बल्कि इससे आपका धन फंस या डूब सकता है ..आप प्रतिदिन शाम के समय या रात्री में सोने से पहले श्री हनुमान चालीसा जी के तीन पाठ अवश्य करें तो शीघ्र ही लाभ होगा और रूकावटे दूर होती जायेंगी

      हटाएं
    2. आपका धन्यवाद...

      आपका विदेश जाने का योग है लेकिन जन्म कुंडली के अनुसार आप वहा स्थायी निवास नही कर सकते है कुछ समय के लिए जाओगे बाकी अकेले जाने का योग है परिवार के साथ जाने का योग नही है यह योग २०१५ सितम्बर से आरम्भ होगा श्री हनुमान चालीसा जी के तीन बार ही पाठ करने है इससे स्वास्थ सम्बन्धी परेशानी दूर हो जायेगी तथा अप्रैल २०१४ के बाद समय अनुकूल होना आरम्भ होगा तो धन आगमन के मार्ग स्वतः ही खुल जायेंगे

      हटाएं
    3. Dhanya Vaad Pandit Ji,

      Appka Samya Nikalna Mere Prashan Ke Liye.

      Jo Kaam Main Kar raha Hu Draftsman ka nakshe khishne ka wo mere liye sahi hai ya mujhe kisi aur Line me kaam karna chahiye. Aap Jara ye baataye ki mujhe kis line me Job Karni Chahiye Saath hi Main job bhi try kar raha hu kafi dino se delhi/ncr me or videsh me bhi par kuch hasil nahi ho raha hai. Kya mera Jeevan sangarsh rahit hi rahe ga Ya mujhe kabhi sukh ki prapti ho gi.

      Pandit Ji abhi meri beti hui hai kya mujhe Putr yog hai. aapse naram nivedan hai. Pandit ji aapka bahot bahot dhanya vaad.




      हटाएं
    4. आपको इसी कार्य में सफलता मिलेगी और जनवरी १४ के बाद एक नया काम किसी मित्र के द्वारा आपके सामने आयेगा लेकिन उसे ना करे तो अचच्क्स्हा ही होगा आपकी जन्म कुंडली के अनुसार आपको पुत्र संतान का पूर्ण योग बन रहा है इसका सुख जून २०१४ के बाद होगा

      हटाएं
  17. panditji pranaam
    meri d.o.b. :22 aug 1983
    time hai :7:50am
    place hai : new delhi
    panditji merey husband ki death ho gayi hai aur ab merey pass 2 bachey hai 8yrs ki ladki aur 3yrs ka ladka hai.merey pati ka joint mein apney bhaiyo k sath business tha but ab wo humey rakhney k liye bilkul tayaar nahi hai aur janey k liye kehtey hai. mein jaana nahi chati kyu ki wo mujhey kuch bhi deney ko tayaar nahi hai. merey jeth hi ghar mein sab se badey hai aur wo hi sab se jada apni niyat kharab kar rahey hai crore ka business hai but merey pati se pyar pyar mein sab kuch apney aur apni biwi k naam par karwa liya hai. mujhey ye sab batey ab unky marney k baad pata chali hai. pls pandsitji mujhey merey bacho ko unky baap ka haak dilwa dijiye pls panditji mein bhaut pareshan hu. mein kitni baar marney k barey mein sochti hu but bacho ka khayal aa jata hai ki inka toh wo aur bhi bura haal kar dengey. sab se badi mazey ki baat toh ye hai ki ye sab merey pati ka hi empire khada kiya hai but meri aur merey bacho ki kismat kharab nikli ki unn honyy hum ko bina bataye sab kuch sirf vishwas karkar apney bhai ko baap barabar mann kar sab kuch unkyy naam kar diya yaha tak ki jis ghar mein mein reh rahi hu wo bhi merey pati k naam par tha but ajj wo bhi meri jethani k naam par hai aur wo yaha se janey ko bolti hai.roz roz akkar kalesh kartey hai jiss se hum dukhi hokkar yaha se chaley jaye.pls panditji meri help kijiye
    pranaam
    apki dukhi beti

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको जल्दी ही मेल द्वारा उत्तर भेज देंगे

      हटाएं
  18. Namaskar pandit ji mera naam Monika hai meri dob 17/09/1988 2.40 am raat ka hai..janam place saharanpur hai.. Meri life main kuch bhi acha nhi ho rha hai na job ka kuch hua ..aur shadi k lye bhi koi Baat nhi bna pa rhi h..koi na koi problem aa jati h koi bhi rishta hota h usme plz ubay batye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार सप्तम विवाह भाव का स्वामी शनि है जो कि कुंडली में छठे भाव में बाधकेश शुक्र के नक्षत्र में स्थित है इसी कारण विवाह का सुख में देर हो रही है नवम्बर 2016 से विवाह का प्रबल योग आरम्भ होगा

      हटाएं
  19. Namaskar pandit ji Mera naam Sameer hai Mera dob 18/02/1990 hai Jangam samay 7:05 min sham ka . Janam sthan Chandigarh Hai
    Mera Vivah kb hoga .. Kya Meri kundli me sarkari Naukri ka koi yog hai yadi hai to kb tk... Kripa margdarshan kijiye ....main Apka abhari rahunga......dhanyavad

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार नवम्बर 2016 के बाद आपका भायोदय होना शुरू होगा तभी उस समय अंतराल में विवाह आदि अन्य शुभ कार्य संपन्न होंगे

      हटाएं
  20. Pandit ji ..to ess se pehle koshish na kre ...shadi k lye ..Nov k baad hi koi Baat badhiye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कौशिश करते रहो जो योग बताया वो शादी का योग होता है लेकिन सगाई आदि जो शादी से पहले की ओपचारिकता होती है वो सब पहले होंगी इसीलिए कौशिश मत छोडो उसे जारी रखो

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में