जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

शुक्रवार, 16 जुलाई 2010

सुखी जीवन के सरल उपाय भाग 2

हर व्यक्ति सुख चाहता हैं, दुःख से सभी भय खाते हैं, मनुष्य ही नहीं अन्य प्राणी भी सुख की कामना रखते हैं. खुले असमान में स्वछंद विचरण कर रहा पक्षी अपने को जितना सुखी महसूस करता हैं, उतना ही वह तब दुखी हो जाता हैं, जब वह एक पिंजरे मैं कैद हो जाता हैं, जहां तक मनुष्य कि बात हैं तो उसके सुख – दुःख के पैमाने अलग अलग हैं. लेकिन सही मायने वही मायने वही सुखी माना जायगा, जो अपने हालात से संतुष्ट हो. बहराल यंहां कुछ ऐसे आसान उपाय जो कि पिछले कई दशको से हमारे महापुरुषों ने समाज कि भलाई के लिए उपयोग किये व् उसका पूर्ण रूप से सफलता पूर्वक फल प्राप्त किया. मैं उन उपायों को आपके लिए लिख रहा हूँ.इसे करने के बाद आशा हैं कि आपको भी ईश्वर सफलता प्रदान करे,अतः मुझे अवगत अवश्य करें,ताकि मेरा उत्साहवर्धन हो और मैं अन्य जानकारी भी आपके सामने रख सकूँ. यह उपाय जीवन को और ज्यादा सुखी बनाने में सहायक हो सकते हैं.


             संध्या-दीपक :-


संध्या अर्थात सांयकाल में दीपक कभी ना भूलों हमारी माताये सायंकाल में दीप जलाती थी तथा भगवान से अपने परिवार तथा पूरे संसार की खुशी के लिए प्रार्थना करती थी और संध्या आरती पड़ती थी जो मंगलमय व संध्या का स्वागत करता दीप जीवन में हमेशा सुख समृद्धि प्रदान करता है .


शुभम करोति कल्याणं आरोग्यम् धन सम्पदा.
शत्रुबुध्दि विनाशाय दीपज्योति नमस्तुते ।

अर्थात यह दीपक हमारे लिए शुभ फलदायक हो आरोग्यता प्रदान करे धन सम्पदा की वृद्धि हो तथा शत्रुओं की बुद्धि का विनाश करने वाली दीप ज्योति को में प्रणाम करता हूं.



             सन्यवारी:-

यह कश्मीरी शब्द है, इसका तात्पर्य तांबे के छोटे दो लोटे जिनको सन्यवारी कहा जाता है हमारी माताएं ब्रह्म मुहूर्त में उठ कर इन लोटो को मांजती थी तथा शुद्ध पानी भरती थी और इस पानी से घर के दरवाजे (मुख्य द्वार) को छींटे देती ही और यह प्रार्थना करती थी....
जले विष्णु, थले विष्णु, आकाश मंडले. स्थाने स्थाने हरी विष्णु विष्णु जगत मंडले

आप भी सुबह उठ कर घर के उत्तर-पूर्व में जल से भरा बर्तन रख कर सुबह उसे घर में इस प्रकार से छींटे दें जिससे घर की जितनी नकारात्मक गतिविधियां है, खत्म हो जायेगी.
भोजन पशु-पक्षिओं को डालें :--

वास्तव में जो अन्न हम खाते है वह हमारे शरीर की अग्नि को शान करता है. शास्त्रों में लिखा है जिस प्रकार हम अग्नि में आहुति डालते है उसी प्रकार हम अन्न रुपी आहुतियाँ पेट की अग्नि को शांत करने के लिए डालते है यह भी एक प्रकार का दैनिक हवन होता है इसे आरम्भ करने से पहले अर्थात खाना खाने से पहले हमें अपनी थाली से थोड़ासा अन्न बाहर रखना चाहिए सबसे पहले ईश्वर को अर्पण करके फिर इन बेजुबान पशु-पक्षिओं गाय,कुत्ता कौवा को डाले ताकि हमारे घर में अन्न की बरकत हमेशा बनी रहे.
ऐसा प्रतिदिन करने सेघर परिवार में हमेशा सुख की अनुभूति होगी तथा परिवारिक सदस्यों में सदभावना जाग्रत होगी......


14 टिप्‍पणियां:

  1. Namaskar Guru ji

    Mera name Krishn Murari Nagar h ,me ek private company me job kar rha hu par vaha par meri performance achi nahi ho pa rhi h or kam karne ka man bhi nahi karta h ,me apani job change karne ki bhi kosis kar rha hu par fir bhi koi moka nahi mil rha h jaha bhi interview deta hu vapas koi jawab nahi milta h .

    dusari taraf me sarkari naukari ki tyari karne ki bhi soch rha hu private job ko chodakar agar me esa karta hu to kya muje safalata milegi ,kitana yog h meri kundali me sarkari naukari ka.

    meri kundali ke hisab se kya muje private job me progress milegi ya sarkari naukari ka yog bhi h , meri abi 13 May ko hi sadi hui h to me job bhi nahi chod sakta hu ,badi paresani m hu , har time bas job ki hi sochata rhta hu. meri samsya ka koi hal ho to app bataiy apaki asim karapa hogi.

    kya muje sarkari naukari ki tyari karni chahiy ya private job me hi mera future acha h.

    Date of Birth 28/4/1990

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कृपया अपना जन्म समय और जन्म स्थान का विवरण दें.....

      हटाएं
    2. jana samaya ratri 10 Bajakar 24 minute

      janam sthan Gram pitampura post jalawara jila Baran (Raj)

      हटाएं
    3. ratri 10 bajkar 24 minute

      Gram Pitampura Dist. Baran,Rajasthan

      हटाएं
    4. ratri 10 bajkar 24 minute par village Pitampura Dist. Baran Rajasthan

      हटाएं
    5. आपकी जन्म कुंडली अनुसार अभी नवम्बर तक का समय शुभ नही है आप यह प्राइवेट नौकरी ना छोड़े नही तो पछताना पड़ेगा तथा सरकारी नौकरी के लिए कौशिश करते रहें सफलता जरुर मिलेगी...आप प्रतिदिन शाम के समय कुत्तों को खाने के लिए कुछ भी दें तथा भगवान सूर्य को प्रातः जल का अर्घ्य दें तो शीघ्र ही सफलता मिलेगी

      हटाएं
  2. Pt. Ji mera naam Jasvinder Singh Solanki mera jaanam 9 january 1989 ko raat 00:53 min par hua hai jo ki 8 jan ki raat 12 bje k baad hua hai 9 january shru hone par delhi me hua hai kya mere janam kundli me prem vivah ka yoog hai jise mai prem karta hu uska naam Rinki hai plz pt. Ji jwab jarur dena mere e.mail id hai jasvindersolanki@gmail.com hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार आप का प्रेम विवाह का योग नही है हां प्रेम होने की संभावनाए है राहू की महादशा चल रही है राहू की शान्ति का जाप अपने पंडित जी से करवाये ...

      हटाएं
  3. Mai swati hua. Mera upper ka hoothon farak raha hai. Iska kuch sanket hai kya? Kripya utar de

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ऊपर का होंठ का फडकना चिंता और भय देता है मानसिक परेशानी आती है इसलिए तीन दिन गाय को रोटी खिलाएं तो इसका अशुभ प्रभाव खतम हो जाएगा

      हटाएं
  4. My dob 08/08/1980
    Time 2.35p.m.
    Place nagpur
    Muje job milegi kay aur kaha ya koi vusiness karu konsa kab se success nahi mil rahi pahle private job karti thi 5 sal fir 10 salse hiusewife bache bade hogye hai kuch karna chati hu aur married life me kabhi kabhi problems aate hai bhahut frustrated feel karti apne liye kuch financial base banana chati hu khud ka ghar kabtak hoga please meri mushkil door kare sorry but help me... kanchan

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आभी आपकी जन्म कुंडली अनुसार सितम्बर 2016 तक का समय अनुकूल नही है इसके बाद सभी कार्यों में सफलता मिलनी आरम्भ हो जायेगी भगवान शिव का पूजन रोज़ करें शीघ्र लाभ होगा

      हटाएं
  5. मेरा नाम पुस्पा है मेरा जनम नेपाल लुम्बिनी मे हुव है 1994/4/22मेरा कुण्डलि बतादिजिएन

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म समय और जन्म स्थान का पूरा विवरण दें

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में