जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

सोमवार, 30 अगस्त 2010

उपहार (Gift) दें.. मगर राशि देख कर.

आजकल तो प्राय: प्रत्येक व्यक्ति अपनी राशि को जानता है. यह राशि जन्म राशि हो सकती है या जन्मदिन के अनुसार भी हो सकती है. हम अपने मित्रों के जोडियक साइन” (राशि) भी जानते है. यदि हम उनको कोई उपहार दे रहे है तो उनके जोडियक साइन या नाम राशि अथवा जन्म राशि का प्रयोग कर के उपहार दिया जाये तो ऐसा उपहार बहुत ही लकी साबित होता है यह उपहार भाग्यशाली लेने और देने वाले दोनों को ही होता है. यदि हम उपहार दे रहे है तो हमें वह उपहार देना चाहियें जो उसके लिए लकी साबित हो. उपहार लकी तभी साबित होगा जब हम उसकी राशि के अनुकूल उपहार देंगें.

उपहार और दान दोनों का सम्बन्ध किसी वस्तु को देने से है. परन्तु दोनों के उद्देश्य में भारी अंतर(फर्क) है. दान हर किसी को नहीं दिया जाता है. उसके लिए सही पात्र का होना अत्यंत आवश्यक होता है. दान का सम्बन्ध ग्रह शान्ति या परमार्थ हो सकता है. परन्तु उपहार तो किसी को प्रसन्न करने के लिए भी दिए जा सकते है. उपहार मित्र, सगे सम्बन्धी, सहपाठी और समाज के सभी वर्गों में दे सकते है. यंहा तक कि शत्रु को भी अनुकूल करने व किसी से कार्य निकलवाने हेतु भी समाज में उपहार का प्रयोग होता है. पारिवारिक सदस्यों की खुशी में उपहार द्वारा ही अपने को शामिल किया जाता है या उस उत्सव में उपहार के द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई जा सकती है.



अब यह उपहार हम किसी को दें तथा वह उसके और हमारे लिए भाग्यशाली बन जाये अर्थात हमारे आपस के सम्बन्ध ओर मधुर बनजाये तो कितना ही अच्छा हो. यंहा पर प्रत्येक राशि के अनुसार किस प्रकार का उपहार शुभ हो सकता है वर्णन कर रहा हूं.

मेष और वृश्चिक राशि

इन लोगों पर मंगल ग्रह का विशेष प्रभाव रहता है. इन्हें जिंक धातु की बनी वस्तुएं, लाल रंग की वस्तुएं, मिठाई का डिब्बा, हनुमान जी की फोटो या मूर्ति, हनुमान चालीसा, मूंगे की कोई मूर्ति, ताम्बे का कोई भी आइटम दिया जा सकता है.

वृषभ और तुला राशि

इन लोगों पर शुक्र ग्रह का प्रभाव रहता है.इन्हें आप परफ्यूम, कैसेट, सी०डी०, रेशमी वस्त्र, संगमरमर की कोई भी मूर्ति, कंगन, चूड़ी आदि दे सकते है. कार और हीरों का हार भी दिया जा सकता है.



मिथुन और कन्या राशि

इन लोगों पर बुध ग्रह का अधिकार है. इन लोगों को आप सुन्दर पैन सैट, खेलकूद का सामान, हरे रंग की कोई भी वस्तु, पन्ने की अंगूठी, जेड के आभूषण, गणेश जी की मूर्ति या फोटो, उपन्यास(नॉवल) या पुस्तक आदि भेंट कर लाभ उठा सकते है.

कर्क राशि

इन लोगों पर चन्द्रमा का प्रभाव रहता है. इन्हें चांदी की बनी वस्तुएं, मोतियों का हार, सफेद वस्तुएं, सीप के बने उपहार, आइसक्रीम, चॉकलेट्स, वाहन आदि उपहार में दे सकते है.

सिंह राशि

यह लोग सूर्य से प्रभावित होते है. इन्हें साधारण वस्तु पसंद नहीं आती है. इन्हें विशेष उपहार की इच्छा रहती है. सोने की चेन या आभूषण, माणक, ताम्बे की आइटम, कोई बड़ा शौ पीस, कोई भी राजसी चिन्ह, एंटीक वस्तु, लकड़ी के शौ पीस, सुनहरे रंग की वस्तु, और विज्ञान से सम्बंधित उपहार दे सकते है.

धनु और मीन राशि

इन लोगों पर वृहस्पति ग्रह का असर होता है. पुस्तके, साहित्य, सोने की आइटम, कम्प्यूटर सम्बन्धी, बुद्धा या भगवान सम्बन्धी मूर्ति या साहित्य और भोजन पार्टी आदि दे सकते है.

मकर और कुम्भ राशि

यह लोग शनि द्वारा संचालित है. इन्हें बिजली के उपकरण, लोहे का सामान, अच्छी किस्म की शराब, जूते, चप्पल, ब्रेसलेट की माला, छाता, बर्तन, पत्थर की आइटम उपहार दे सकते है.


इन सब राशि वालो को प्रसन्न करने के लिए साथ ही जो भी उनकी अधिक रुचिकर वस्तुए हो वह भी अगर शामिल कर ली जाय तो सोने में सुहागा का काम करता है. इसके द्वारा आप शत्रु को भी मित्र बनाने में सक्षम हो जाओगे....











1 टिप्पणी:

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में