जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

रविवार, 12 सितंबर 2010

आप और आपका भाग्यांक...

भाग्यांक १
१ अंक को सूर्य का प्रतीक माना जाता है. यह आदि बिंदु है, जिससे शेष नौ अंको की सृष्टि या रचना हुई है. समस्त अंको का मूल आधार एक ही है. सारे जीवन का आधार एक ही है आप अत्यंत सौभाग्यशाली है. आपके जीवन का प्रतिनिधित्व ग्रह सूर्य है. यह अंक रचनाशील व्यक्तित्व का परिचायक है. आप अपने कार्यों में खोजप्रिय, प्रभावशाली विचारों में दृढ़, कुछ हठी एयर संकल्पवान होते है. किसी भी व्यवसाय में या पेशे में हों, हमेशा प्रगति करते है. सब जगह प्रमुख बनना चाहते है. अधीनस्थों से आदर प्राप्त करते है. आप रजोगुण प्रधान, अग्नि तत्व प्रधान व प्रतापी है. अचानक जीवन में सम्पदा प्राप्त कर सुख-एश्वर्य भोगेंगे. राजनीतिक जीवन में आप अधिक सफल हो सकते है. धन को लेकर मित्र, स्त्री, सन्तान, घर से आपका वैर होने की संभावना रहती है. आप देवपूजक व धर्म कर्म में रूचि रखने वाले व्यक्ति है. आप यश-अपयश, जय-पराजय को समझ लेते है तभी कदम आगे बडाते है. यह सत्य है कि आप ही अपने भाग्य के निर्माता, करता-धरता है. आप सदगुणों की खान है.
आप अपने व्यापार से सम्बंधित कार्य इन तारीखों को करें:-- १,१०,१९,२०,१६,२५,२८ यदि इन तारीखों में सोमवार या रविवार पड़े तो आप अपने आधे-अधूरे रुके हुये कार्यों को पूरा करें. विशेष व्यक्ति से मिलें या नयी योजनाएं बनाएं. सफलता प्राप्त होगी.
प्रेम मित्रता के लिए आपके भाग्य अंक:--जिनका भाग्य अंक २,१०,७,१६,२५,११,२०,२८ या २९ आदि तारीख है. आपके लिए भाग्यशाली साबित होगी. इनसे आपके अच्छे परिणाम और सुख का अनुभव होगा.
भाग्यकारी रंग:-- गहरे भूरे, पीला, सुनहरे रंगों के कपड़े पहनें, हल्का रंग भी इस्तेमाल करें. अपने घर के शयनकक्ष में इन रंगों से सम्बंधित परदे इस्तेमाल करें इनसे मानसिक तनाव दूर होगा. नींद अच्छी आयेगीं.
भाग्यकारी वर्ष:-- ७,१६,२५,२९,१०,११,२८,३७,४६,५५,६४, ७३वें वर्ष सर्वाधित श्रेष्ठ रहेंगे.
व्यवसाय:-- आभूषण क्रय-विक्रय, विद्युत सामग्री, चिकित्सा कार्य, स्पोर्ट्स, सैन्य विभाग, राजदूत, हुकूमत, श्रम विभाग इत्यादि. यह व्यवसाय श्रेष्ठ रहेंगे.
आपकी भाग्यशाली दिशा:-- पूर्व-उत्तर, उत्तर-पश्चिम, दक्षिण-पूर्व, दक्षिण-पश्चिम में आपको अपना कार्य क्षैत्र नहीं बनाना चाहिए...

भाग्यांक २
अंक २ को चंद्र का प्रतीक माना गया है इस अंक के व्यक्ति कोमल, भावुक व संवेदनशील, जागरूक, कल्पना जगत में विचरण करने वाले सहृदयी विपत्ति में लोगों के काम आने वाले शीतल स्वभाव के होते है. इनके अंदर भौतिक से ज्यादा मानसिक गुण होते है. यह जीवन में एक कार्य से संतुष्ट न रह कर बदल बदल कर जीवन बिताते है. कोई भी कार्य जोश से करेंगे परन्तु थोड़ी सी रुकावट आने पर बाधा या अड़चन आने पर दुसरे कार्य में लग जायेंगे. थोड़ी सी भी परेशानी, धन नष्ट, हानि होने पर सहन नहीं कर पाते और शौर मचाना शुरू कर देते है. आप रजोगुण प्रधान, मोक्ष इच्छुक, माया का पूर्ण भोग करने वाले निरन्तर उन्नति की ओर अग्रसर रहते है.
आप अपनी नीतियों में सदृढ़, नियमित कार्य करने वाले आनुशासन प्रिय है. सौन्दर्यप्रेमी होने के कारण जहां सुंदरता देखते है वहीं पर आप ठहर जाते है. बागवानी, तैरने व कलात्मक चीजे करते रहते है. आपके संपर्क में आ कर, अपरिचित कभी अपरिचित नहीं रहता है आप सचमुच भोले व सरल चित्त होने के कारण दूसरों से भी ठगे जाते है.बात बात में धोखा खाते है. एवं फिर पछताते है. आप सदगृहस्थ है. परन्तु आपकी पत्नी भी आपको समझ नहीं पाती है. ग्रहस्थ में निरन्तर भूचाल आने की संभावना बनी रहती है. अपने मित्रों को मन का भेद न दे अन्यथा पछताएंगे. उदासीनता आप पर हावी रहती है.
व्यवसाय:- तैलीय कार्य, समुद्र यात्रा, पशु व्यवसाय, डेरी, मुर्गीपालन, घी का व्यवसाय, कागज़, जल, कृषि, औषधि, खंडसारी, भ्रमण कार्य, एजेंट, संपादन, लेखन, संगीत, नृत्य, भूमि प्रबंधन, ठेकेदारी, पत्थर का कार्य अपनाने का प्रयास करना चाहिए.
दिशाए:- उत्तर-पूर्व, उत्तर-पश्चिम, उत्तर यह दिशाए कार्य क्षेत्र के लिए श्रेष्ठता प्रदान करती है.
सर्वोत्तम तारीखें:-- २.११.२०,२९, ४,१३ २२,३१, श्रेष्ठ: व ७,१६,२५ तारीखे उत्तम फल देंगी..
सर्वोत्तम वर्ष:-- ४, १३, २२, ३१, ४०, ४९, ५८, ६७, ७६ वर्ष श्रेष्ठ, ३४, २५, ४३, ५२, ६१, ७० उत्तम फल दायक रहेंगे..
अनुकूल रंग:- गहरे हरे से लेकर सभी प्रकार के क्रीम रंग, पीला रंग, लाल रंग, सफेद रंग के कपड़े पहनें. काले, बैंगनी, रंगों से विशेष रूप से परहेज रखें...
प्रेम मित्रता के लिए आपके भाग्य अंक:-- अंक २, ७, १, ४ इन अंको के भाग्यवर्धक लोग उपयुक्त रहते है. आपके भाग्यशाली दिन रविवार, सोमवार, तथा शुक्रवार रहते है. यदि इन वारों में २, १, ७, ४, अंक हो तो कोई भी कार्य करने के लिए अधिक अच्छा है...

भाग्यांक ३
अंक ३ गुरु (वृहस्पति) ग्रह का परिचायक है. ज्योतिष तथा अंक विद्या दोनों में इस ग्रह की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है. हर तीसरे अंक से जैसे ३, ६, ९, से प्रमुख सम्बन्ध है. इस अंक के लोगों को एक दूसरे से सहानुभूति होती है. यह महत्वाकांक्षी होते है. अधीनस्थ पदों पर वह कभी संतुष्ट नहीं होते है. इनका उद्देश्य जीवन में ऊंचा उठना तथा दूसरे लोगों पर नियंत्रण और अधिकार हासिल करना होता है. यह आदेशो का पालन करते है. तथा आनुशासन पसंद है.यह लोग समाज सेवा, जाति सेवा, राजनीतिक जीवन में अधिक सफल होते है. मित्रों के प्रति सहिषणुता एवं स्वयं कष्ट सह कर भी मित्रों का हित करने को तैयार रहते है. आप ध्यानी, ज्योतिष प्रेमी, दीर्घायु व आजीवन एश्वर्य भोगते है. दान-पुन्य, परोपकार में भाग लेने वाले धार्मिक कृत्य बार बार करते है. घर-परिवार, कुटुम्ब, भाइयों आदि का सुख सहयोग नहीं मिल पाता है परन्तु आप अपने सौम्य स्वभाव के कारण सबको निभाते चले आते है. वृद्धावस्था आपकी सुखमय व्यतीत होती है...
व्यवसाय:-- वस्त्र व्यवसाय, भोजन स्थल, रेस्टोरेंट, अध्यापक, वकील, उपदेशक, मंत्री, राजदूत, दलाली, आढ़त, मैनेजर, दर्शन शास्त्र, जहाजी कार्य, सैन्य विभाग, प्रबंध कार्य, व जलीय कार्य सर्वाधिक सफलता देने वाले होते है.
दिशाएं:-- दक्षिण-पूर्व, दक्षिण-पश्चिम, पूर्व व उत्तर शुभ दिशाएं है. यह दिशाए व्यवसाय के लिए यात्रा के लिए उत्तम होंगी.
रंग:-- पीला रंग, केसरिया रंग, चमकीला, गुलाबी रंग, हल्का जामुनी रंग, शुभ फलदायक है.
प्रेम व मित्रता के लिए भाग्य अंक:-- ३, ६, ९, इस अंक के लोगों के साथ शुभ सम्बन्ध रहता है. चाहे व्यवसाय हो या मित्रता चाहे प्रेम की बात हो.
आपके शुभ दिन:-- सोमवार, गुरु वृहस्पतिवार, मंगलवार, शुक्रवार शुभ रहेंगे. यदि इन दिनों दिनाँक ३, ६, या ९ हो तो अत्यंत शुभ दायक होंगे.
सर्वश्रेष्ठ वर्ष:-- ३, ६, ९, १२, १५, १८, २१, २४, २७, ३०, ३३, ३६, ३९, ४२, ४५, ४८, ५१, ५७, ६३, ६९, ७२ यह आपके लिए शुभ वर्ष है. किसी भी माह की ३, १२, २९, ३० तारीखें सदैव सफलता प्रदान करेंगी...

भाग्य अंक ४
अंक ४ यूरेनस और राहू ग्रह का परिचायक है. यह सूर्य के अंक १ से संबंध समझा जाता है अंक विद्या में इसे ४-१ की तरह लिखा जाता है.इस अंक के लोगों का अपना अलग परिचय होता है.यह प्रत्येक चीज को अन्य लोगों से भिन्न कोण से देखते है अर्थात उल्टा, वाद विवाद में हमेशा विरोध में बोलते है.और अनजाने ही गुप्त शत्रु बना लेते है. जो लगातार इनके खिलाफ कार्य करते है. कायदे क़ानून से विरोध की प्रवर्ती रहती है. आप पुराने रीति रिवाजो के खिलाफ व नवीनताओं के समर्थक रहते है. आपके जीवन में अचानक घटनाएं होती है. जिससे आप विचलित हो जाते है. तात्पर्य यह है कि शुभता, अनुकूलता, उन्नति प्रेम, रोमांस प्रतीति, धनागम, भाग्य वृद्धि, रोग, प्रतिकूलता, वैर-विरोध, आदि सब कुछ अकस्मात होता है. जीवन में विश्राम या ठहराव कभी नहीं आता है. क्रियाशील आपका गुण है. उस पार या इस पार. बीच का कोई भी रास्ता नहीं. जीवन में एकदम उन्नति पायेंगे या अवनति का गहरा गर्त. सब मिलाकर आप रहस्यमयी तथा मन का भेद न देने वाले व्यक्ति है. आयु का यथेष्ठ भाग दिखावे, सैर सपाटे, प्रदर्शन, बनाव श्रृंगार, भोग यशोपार्जन में खर्च कर डालते है. घर के सदस्य व लोग आपके प्रति सदैव भ्रम में बने रहते है.वृद्धावस्था कष्टमय रहता है.
व्यवसाय:-- शिक्षक, प्रोफ़ेसर, इंजीनियर, लेखन कार्य, टेक्नीशियन, शराब, स्प्रिट, तेल, केरोसिन, रेल विभाग, छापे का काम, टेलीफोन, ऑपरेटर, शिल्पकार, खनिज कार्य इनमे सफलता प्राप्त होती है.
दिशाएं:-- दक्षिण-पूर्व, दक्षिण-पश्चिम, यह दिशाए अच्छी सफलता देने वाली है.
रंग:-- धूमिल, नीला या स्लेटी रंग इन्हें शुभ फलदायक होते है.
भाग्यशाली वार:-- शनिवार, रविवार, तथा सोमवार, वृहस्पतिवार शुभ है.
प्रेम व मित्रता के लिए भाग्य अंक:--- १, २, ७, ८, इनके साथ प्रेम मित्रता करना तथा व्यवसाय करना शुभ रहता है.
सर्वश्रेष्ठ वर्ष:--- ४, १३, २२, ३१, ३७, ३८, ४७, ५६, ६५, ७४, वर्ष विशेष शुभ दायक है.
शुभ तारीखें:-- ४, १३, २२ और ३१ आपके लिए सदैव शुभ फलदाई होंगी. यह तारीखे व वर्ष जीवन में नया मोड़ लाएंगी..

भाग्य अंक ५
अंक ५ का परिचायक और ग्रह स्वामी बुध है. आपका व्यक्तित्व सचमुच सराहनीय है. आप पर बुध का सबसे अधिक प्रभाव रहेगा. नवीन युक्तियां, नित्य नवीन विचार, नए तर्क और नयी कल्पनाएं बनाने में सिद्धहस्त है. आप आसानी से दोस्त बना लेते है. किसी भी अंक के लोगों के साथ आपकी पटरी बैठ जाती है. मेहनत से जी नहीं चुराते, बल्कि अपना शौक समझते है. उत्तेजना हमेशा हावी रहती है. कभी कभी उत्तेजनाओं से कुंठित हो जाते है. निर्णय तुरंत लेते है. हर संभव हर एक को हर क्षेत्र में चुनोती देते है. सामना करने में आप आनंद महसूस करते है. जल्दी धन इकट्ठा करने के उपाय अपनाते है. अपनी नयी बातों से और खोज के द्वारा धन संपत्ति में वृद्धि कर लेते है.
आप पर किसी बात का असर अधिक वक्त नहीं रहता है. भाग्य के थपेड़े आपके चरित्र पर कोई असर या निशानी छोड़ देते है. आप घूमना, फिरना, मनोरंजन आवश्यकता से अधिक करते है. आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना चाहिए. रक्तचाप, मस्तिष्क सम्बन्धी रोग, चर्म रोग, इनसे सावधान रहना चाहिए. तीव्र बुद्धि समय के अनुसार अपने आपको बदलना आपकी प्रवृति है. व्यापार में अधिक सफल रहते है.
शुभ वार:-- ५, १४, २३, बुधवार, सोमवार, गुरूवार, और शुक्रवार यदि यह तारीखें इन दिनों में पड़े तो सोने पै सुहागा, शुक्रवार सबसे अधिक शुभता देता है. इन दिनों और तारीखों में कार्य शुरू करे तो सफल होंगे..
व्यापार:-- संपादन, संचार व्यवस्था, वाणिज्य, मुद्रणालय, इंश्योरेंस, सेल्समैन, बैंकिंग, बाजार निर्माण, पुस्तक विक्रेता, यातायात सम्बन्धी कार्य, पर्यटन सम्बन्धी, स्टॉक एक्सचेंज, व समस्त बौद्धिक कार्य.
दिशा:-- उत्तर-पूर्व, उत्तर-पश्चिम, उत्तर, दिशाए आपके लिए भाग्यशाली सिद्ध होती है.
प्रेम व मित्रता के अंक:-- ५, १४, २३, ६, २, शुभ अंक प्रेम म्त्र्ता व व्यवसाय करने के लिए उत्तम फल दायक है.
सर्वश्रेष्ठ वर्ष:-- ५, १४, २३, ३२, ४१, ५०, ६८, ७७ वें वर्ष सर्वथा शुभ अनुकूल रहेंगे.
रंग:-- हरा, हल्का स्लेटी, सफेद, हल्का खाकी, चमकीला उज्जवल रंग आपके लिए उत्तम फलदाई है...

भाग्यांक ६
अंक ६ शुक्र ग्रह का परिचायक है. ६ अंक वाले व्यक्ति अधिक मोहने वाले होते है. दूसरे लोग खुद ही आकर्षित हो जाते है. इनके अधीनस्थ लोग इनको प्रेम करते है. और अकसर इनके उपासक होते है. अपने योजनाओं के प्रति दृढ़ निश्चयी होते है. यह हठी व न दबने वाले होते है. यदि किसी से प्यार करने लगे तो उसके दास तक बन जाते है. इनमें वासना से ज्यादा वात्सल्य होता है. प्रेम के मामले में रूमानी और आदर्शवादी होते है. सुन्दर चीजों से प्यार करते है. इनके घर सुंदरता और कलात्मकता से पूर्ण होते है. गहरे रंगों, चित्रों तथा संगीत के प्रेमी होते है. धनवान होने पर कला तथा कलाकारों के प्रति बहुत उदार हो जाते है.
आप व्यवशील है. अतिथियों की आवभगत में अधिक खर्च करते है. खर्च अधिक करने पर अर्थाभाव का सामना करना पड़ता है. आप आगे-पीछे नहीं सोचते है. तथा ऋण लेने की नौबत आ जाती है. चुकाने के समय नीचा देखना पड़ता है. आपको इस आदत पर नियंत्रण रखना चाहिए. आप मतभेद तथा इर्ष्या को भूल नहीं सकते है. आपकी पूर्ण सफलता का रहस्य सौम्य चेहरा, उन्मुक्त हंसी, आकर्षक देह होती है. पति पत्नी में निरन्तर कटुता बनी रहरी है. आप असफल ग्रहस्थ माने जा सकते है. संदेह का वातावरण बना रहता है.
व्यापार की शुभ तारीखें:-- ६, १५, ३, ९, १२, १८, २१, २७, ३०, २४, श्रेष्ठ व शुभ तारीखे है. यदि इस दिन शुक्रवार, मंगलवार, गुरूवार, बुधवार हो तो अत्यंत शुभ होता है.
व्यवसाय:-- होटल, शिल्पकर्म, डिजाइनर, वस्त्र व्यवसाय, श्रृंगार प्रसाधन सामग्री, वस्त्राभूषण, रेशमी, ऊनी वस्त्र मिष्ठान कार्य, नृत्य विनय काव्य, साहित्योपार्जन , नात्यकारिता, संगीत वाद्य, उपन्यासकार, इत्र, तेल व सुगन्धित वस्तुए यह कार्य आप अपना सकते है.इनमे अधि लाभ होने की संभावना रहेगी..
प्रेम व मित्रता के अंक:-- ६, ३, ९, व्यवसाय में पार्टनरशिप या प्रेम के मामले में शुभ अंक है.
सर्वश्रेष्ठ वर्ष:-- ६, ३, ९, १२, १५, १८, २१, २४, २७, ३०, ३४, ३६, ३९, ४२, ४८, ५१, ५४, ५७, ६०, ६३, ६९, ७२ जीवन के श्रेष्ठ वर्ष रहेंगे.
शुभ दिशा:-- उत्तर-पश्चिम, उत्तर-पूर्व तथा दक्षिण-पूर्व दिशाए आपके लिए अति शुभ फलदायक है.
शुभ रंग:-- हल्का नीला, गहरा नीला, काला, गुलाबी रंग, चॉकलेटी रंग सौभाग्यवर्धक रहेंगे..

भाग्य अंक ७
अंक ७ नेप्च्यून और केतु ग्रह का परिचायक है. यह चन्द्रमा के समान प्रभाव देता है. अंक २ चन्द्र से संबंध माना जाता है. इसलिए अंक ७ के लोगों के लिए अंक २ सहायक सिद्ध होता है. इनकी अच्छी निभती है. आपका व्यक्तित्व हजारों लोगों में अलग पहचाना जाता है. परिवर्तन आपके जीवन का हिस्सा है.आप नये स्थानों कि खोज, सामुन्द्रिक यात्राएं, हवाई यात्राएं एवं ललित कलाओं में गहरी रूचि रखते है. आप हर एक इंसान की मन की थाह को पा लेते है. हर समस्या के आने से पूर्व आपको शानदार स्वप्न आता है. अर्थात स्वप्न के द्वारा पूर्वाभास होने लगता है. कल्पना शक्ति की प्रखरता के कारण व्यापार को शानदार तरीके से करते है. क्षुद्र मनोवृति से दूर छोटी छोटी बातों पर ध्यान नहीं देते है. उच्चस्तरीय जीवन यापन करते है. आप अपने आप में बैचेन व उग्र रहते है. आप रुढ़ीवादिता से नफरत करते है. विदेश सम्बन्धी कार्य में आप अधिक धन कमाते है. और इच्छा पूर्ण करते है. पुस्तके पड़ने में रूचि रखते है. विश्व की अनेक बातों का ज्ञान रखते है. भौतिक चीजों की कम परवाह करते है. मौलिक विचारों में स्थिर रहते है. आप आत्म विश्वासी, आस्थावान एवं स्वकार्य पक्ष होते है. अपने गुणों के कारण जीवन को निरन्तर आगे बडाते है.
व्यापार की तारीखें:--  १, २, ७, ४, तारीखें, सोमवार, रविवार, शुभ है. यदि इन तारीखों में यह दिन आए तो व्यापार के लिए अत्यंत शुभ फल दायी होता है.
व्यवसाय:-- विदेशी व्यापार, आयात-निर्यात, जहाज के मालिक, कप्तान, जलीय पदार्थ का व्यवसाय, तैराकी, ट्रांसमीटर, रेडियो, औषधि कार्य, रबड़ टायर,युव्से ट्रांसलेटर, भूमिगत खनिज पदार्थ आदि सफलता प्रदान करते है.
प्रेम व मित्रता के अंक:-- १, २, ४, ७, शुभ, इनके साथ प्रेम मित्रता व व्यवसाय शुभ रहेगा.
शुभ दिशा:-- दक्षिण-पूर्व और उत्तर-पूर्व शुभ है.
सर्वश्रेष्ट वर्ष:-- १, २, ४, ७, १०, ११, १३, १६, १९, २०, २२, २५, ३९, ३४, २८, ३१, ४३, ४७, ५२, ५६, ५५, ६४, ६७, ७४, ७३, ७६ वां वर्ष शुभ व श्रेष्ठ है.
रंग:-- सफेद विशेष अनुकूल, हल्का लाल रंग, हल्का पीला शुभ रंग है.

भाग्य अंक ८
अंक ८ शनि ग्रह का प्रतीक है. इनकी प्रकृति गंभीर और तेज होती है. इनके प्रति लोगों में अत्यधिक गलत धारणाए होती है. यही कारण है वह मन से अकेलापन महसूस करते है. आप किसी भी कार्य के प्रति उत्साही, क्रियाशील, परिश्रमी, स्पष्टभाषी, व निर्भय प्रकृति के होते हुये कई अदभुत कार्य करते है. अर्थोपार्जन, सफलता व उन्नति की आप तीव्र इच्छा रखते है. धीरे धीरे कार्य करने की शैली में आप विश्वास नहीं करते है. शीघ्र त्वरित गति से आप कार्य करते है. आप लोगों के प्रति निष्ठुर व कठोर बन जाते है.लोगों की सहानुभूति आपको प्राप्त नहीं होती है. चाहे आप कुछ भी भला कर लें. यह अपनी भावना को प्रदर्शित नहीं करते है जिससे लोग मनमाने ढंग से लेते है. ऐसे व्यक्ति के भाग्य में बड़ी कठिनाइयां, उथल पुथल, अव्यवस्था तथा सभी प्रकार की विषमताएं आती है. परन्तु सभी कार्य में भाग्यवादी दृष्टिकोण प्रकट होता है.  तथा अपना ध्येय उत्साह से पूर्ण करते है. ईश्वर पर भी उनका अगाध विश्वास होता है.ऐसे व्यक्तियों का जीवन वृद्धावस्था में दुखांत होता है. जीवन एक खुली किताब की तरह से होता है. कोई दुराव छिपाव नहीं रहता है. स्वाभिमानी इतने कि थोड़ी सी भी उपेक्षा सहन नहीं कर सकते. विरोध या अपमान सहन नहीं करते. आप में गंभीर बुद्धिमान, दूरदर्शिता, स्वकार्य दक्षता, भावुकता जैसे गुण विद्यमान है. अपनी इच्छा होने पर सब कुछ लुटा देने वाले तथा इनकी इच्छा न होने पर कुछ भी नहीं करवा सकते. अपने आपको झूठ मूठ स्वयं को अत्याधिक व्यस्त बनाएं रहते है.
शुभ तारीखें:-- ८, ४, १७, १३, २२, २६, ३१, शुभत्व प्रदान करती है. यदि इस दिन शनिवार, रविवार, शुक्रवार हो तो और भी अच्छा है.
व्यवसाय:-- स्पोर्ट्स सामान, ठेकेदारी, वकालत, वैज्ञानिक कार्य, मुद्रणालय, लघु उद्योग, लकड़ी का व्यवसाय, जंगलात महकमा, अध्यापन, न्यायधीश. आदि कार्य शुभ रहते है.
सर्वोत्तम वर्ष:--८, १२, ४, १३, १७, २६, २२, ३१, ३५, ४०, ४४, ४९, ५३, ५८, ६२, ६७, ७१, यह जीवन के शुभ वर्ष है.
प्रेम मित्रता व व्यापार:-- २, ४, ८, १७, इन अंको के लोगों से शुभत्व प्रदान होगा.
दिशा:-- पश्चिम, दक्षिण-पश्चिम, दक्षिण दिशा व उत्तर दिशा जीवन में शुभ फल देंगी.
रंग:-- नीला, भूरा, बैंगनी, पीला, काला, रंग शुभ है.

भाग्य अंक ९
अंक ९ मंगल का परिचायक है. मंगल आपके जीवन को प्रतिनिधित्व करता है. आप एक साहसी व्यक्तित्त्व वाले होंगे. जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में जुझारू होते है. जीवन के प्रारम्भ में अकसर कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है लेकिन अवस्था बड़ने के साथ साथ सम्पन्नता भी बढ़ती है. आखिर में दृढ़ शक्ति, साहस तथा संकल्प से कामयाब होने लगते है. स्वभाव में आवेश, जल्दबाजी, और अपनी इच्छा के मालिक होने की प्रवृति दिखाई देती है. अपने जीवन में अनेक शत्रु पैदा कर लेते है. जिद व अहंकार में आकार भले बुरे का भी कभी कभी ध्यान नहीं रखते है. आप अपनी निंदा, आलोचना सहन नहीं कर सकते है. अपने द्वारा योजनाओं में दूसरे का हस्तक्षेप पसंद नहीं करते है. ऐसे व्यक्ति अच्छे साधन-संपन्न और संगठन के काम में प्रवीण रहते है. अदभुत आश्चर्य चकित जोखिमपूर्ण कार्य में सफलता धन यश पाते है. अहंकार व क्रोध से यदा कदा अपना धैर्य खो बैठते है.अंक ९ वालों को अग्नि, चोट, एक्सीडेंट, क्रोध से बच कर रहना चाहिए. आपका यश मान ही आपका सबसे बढ़ा शत्रु भी हो सकता है.
व्यापार के लिए उत्तम तारीखें:-- ३, ६, ९, १२, १५, १८, २७, २१, २४, ३० कोई भी व्यापार या शुभ कार्य करने के लिए यह तारीखें और मंगलवार, वृहस्पतिवार, शुभ फलदायक है.
प्रेम व मित्रता के लिए शुभ अंक:-- ३, ६, ९, १८ शुभ रहेंगी.
व्यवसाय:-- चिकित्सा क्षेत्र, सैन्य विभाग, गोला बारूद, आतिशबाजी का व्यवसाय, वकालत, औषधि, धातु, सरकारी व अर्ध सरकारी कार्य, अध्यापन साहित्य, लेखन, एकाउंटिंग, ऑफिस का संचालन कार्य अनुकूल रहेंगे.
दिशा:-- दक्षिण, दक्षिण-पूर्व दिशा आपके लिए अत्यंत शुभ फलदायक है.
सर्वश्रेष्ट वर्ष:-  ३, ६, ९, १२, १५, १८, २१, २४, २७, ३०, ३३, ३६, ३९, ४२, ४५, ४८, ५१, ५४, ५७, ६०, ६३, ६६, ६९, ७२,७५, ७८, शुभ वर्ष है.
रंग:-- लाल और गुलाबी रंग आपके लिए शुभ है...

आप सोच रहें होंगे, कोई अंक अच्छे या बुरे भी होंगे. नहीं, आप विश्वास कीजिये, कोई भी अंक अच्छा या बुरा नहीं होता . जिस प्रकार कोई भी ग्रह शुभ या अशुभ नहीं होता. हर व्यक्ति के जीवन पर उनका भिन्न भिन्न प्रभाव रहता है.उसी प्रकार अंको का भी हमारे जीवन शैली पर है. अंको की एक सुनिश्चित गति है, स्पष्ट लक्षण है, स्पष्ट अर्थ है. एक क्रम व योजना है. उसे भली प्रकार समझ लें तो मानव जीवन को समझना सरल हो जाता है.
भाग्यांक के लिए जन्म तारीख, जन्म मास्, जन्म वर्ष की आवश्यकता रहती है. सवाल यह है कि भाग्यांक कैसे बनाया जाये ? उदाहरण:- माना किसी की जन्म तिथि २७-०६-१९६२ है तो तारीख को जोड़ा २+७=९, मास् का योग किया तो ०+६= ६, जन्म वर्ष को जोड़ा तो १+९+६+२= १८, अब इन तीनों का जोड़ करेंगे ९+६+१८= ३३ आया इसका फिर एक अंक में परिवर्तन करने के लिए जोड़ेंगे तो ३+३= ६ अंक हमारे सामने आ रहा है बस यही भाग्यांक का अंक है अर्थात उपरोक्त जन्म तिथि के अनुसार हम कह सकते है कि भाग्यांक ६ है. अब भाग्यांक के फल पर भी विचार करते है.

शुभमस्तु !!



54 टिप्‍पणियां:

  1. पंडितजी , बहुत अच्छा कर रहे है आप. मुझे वास्तु और ज्योतिष में बहुत विश्वास है.
    पंडितजी मेरी जनम तारीख 13-07-1986 (रविवार) रात्रि (११:२०) है. अभी मैं बंगलोरे में काम कर रहा हूँ ,, कृपया मुझे बताइए की मेरा भाग्यांक क्या होगा और आने वाला समय कैसा रहेगा. ??
    कृपया मार्गदर्शन कीजिये.
    -राजेंद्र जांगिड.
    Hindutva Aur Rashtravaad

    उत्तर देंहटाएं
  2. धन्यवाद श्री राजेंद्र जांगिड जी जैसा कि मैने लिखा है कि अपनी जन्मतिथि + जन्म माह + ईस्वी सन का जोड़ को एकल अंक बना ले वही आपका भाग्यांक होगा. समय ज्ञात करने के लिए मूलांक तथा नामांक की भी आवश्यकता होगी जिसे मै अगले लेखों की श्रंखला में विधि बताने का प्रयास करूँगा. निवेदन है कि ध्यान से ब्लॉग का अवलोकन करे आपको लाभ होगा व आप दूसरों को भी गाइड कर सकेंगे यही मेरा लक्ष्य है कि ज्योतिष रूपी दीपक से सभी प्रकाशवान हो किसी अंध विश्वास में न पड़े. यह एक सत्य शास्त्र है इसमें झूठ- गरीब आदि का कोई भी स्थान नहीं है.
    अब मै आपकी जन्मतिथि के अनुसार भाग्यांक बता रहा हूं १+३+०+७+१+९+८+६ = ३५ एकल करें ३+५ = ८ आपका भाग्यांक ६ आठ है. जिसका स्वामी शनि है.
    आपका पुनः धन्यवाद..........

    उत्तर देंहटाएं
  3. AAPKA LEKH PARA BAHOOT ACHHA LAGA ,MAIN INBATO ME BARA VISHWAS KARTA HOON,MERA D.O.B 26-08-1970 HAI JISKA YOG 34 BANTA HAI AGAR ISKA JOD 7 BANTA HAI TO MERA BHAYA ANK 7 HAI YA 6 HAI KIRPYA MUJHE IS BAT SE AWGAT KARA DO AAPKI BARI MEHARBANI HOGI

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी जन्मतिथि 26.08.1970: 2+6+8+1+9+7+0= 33; 3+3= 6.. आपका भाग्यांक 6 है..

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेनामी8/27/2012 1:15 pm

    hello .pandit ji 23-11-1982 mare shaadi kab tak ho ge

    उत्तर देंहटाएं
  6. pandit ji pranam, mera DOB 28/10/1970 (15.30Aprox)(Harda MP)hai me private job me hoo jo ki sthai nahi hai, kya mujhe noukri hi karna padega ya swayam ke vyapar ke koi yog hai, makan bhi nahi ban pa raha hai, kya jindgi muflishi me hi kategi, kripya upai bataye.

    उत्तर देंहटाएं
  7. pandit ji namaskar.mera name Ravi kumar jain h,mera janm 27may 1990 ko 1:30 baje dopahar me hua tha.mai b.pharma kar raha hu. kripya ye batane ki kripa kare ke mera future kaisa rahega kya meri koi naukri ke avsar h kya?
    kripya ye bhi bataye ki meri kundali me manglik dosh h kya? apki badi kripa hogi aur jawab mujhe meri id(ravi1990jain@gmail.com) par dene ki kripa kare.dhanyavad

    उत्तर देंहटाएं
  8. pandit ji namaskar.mera name Ravi kumar jain h,mera janm 27may 1990 ko 1:30 baje dopahar me hua tha.mai b.pharma kar raha hu. kripya ye batane ki kripa kare ke mera future kaisa rahega kya meri koi naukri ke avsar h kya?
    kripya ye bhi bataye ki meri kundali me manglik dosh h kya? apki badi kripa hogi aur jawab mujhe meri id(ravi1990jain@gmail.com) par dene ki kripa kare.dhanyavad

    उत्तर देंहटाएं
  9. pandit ji namaskar.mera name Ravi kumar jain h,mera janm 27may 1990 ko 1:30 baje dopahar me hua tha.mai b.pharma kar raha hu. kripya ye batane ki kripa kare ke mera future kaisa rahega kya meri koi naukri ke avsar h kya?
    kripya ye bhi bataye ki meri kundali me manglik dosh h kya? apki badi kripa hogi aur jawab mujhe meri id(ravi1990jain@gmail.com) par dene ki kripa kare.dhanyavad

    उत्तर देंहटाएं
  10. मूलांक 8 वाले को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए ?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/09/blog-post_10.html

      और

      http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/10/blog-post_12.html

      और

      http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/09/blog-post_12.html

      इसका अध्ययन करें आपको उत्तर मिल जाएगा

      हटाएं
  11. मूलांक 8 वाले को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए ?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/09/blog-post_10.html

      और

      http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/10/blog-post_12.html

      और

      http://www.anilastrologer.blogspot.in/2010/09/blog-post_12.html

      इसका अध्ययन करें आपको उत्तर मिल जाएगा

      हटाएं
  12. pandit ji

    mere husband ki date of birth-14-may-1984
    unka Time of Birth : 13:45 PM (1:45 PM)
    ye hai aaj kal inki naukri me pareshani aa rahi hai
    mujhe ye puchna hai ki nayi naukri kab tak milegi aur videsh ke kitne yog hai..........

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इनकी जन्म कुण्डली अनुसार अक्तूबर 2013 तक कुछ भी हो सकता है यह समय ठीक नही है शनि की महादशा और शनि की साड़े सती भी चल रही है जो कि मानसिक परेशानी और अधिक व्यय का कारण है स्वास्थ के प्रति सावधान भी रहें शनिवार सूर्योदय से पहले पीपल वृक्ष में जो कि मंदिर में हो उस पर जल में चुटकी भे काले तिल और थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर चड़ाये...तथा शाम को वही पर सरसों के तेल का दीपक जलाए मिटटी के दिए में ...तथा रोज़ रात्री में श्री हनुमान चालीसा के 5 पाठ अपने सामने गुड़ रखकर करें पाठ के बाद प्रसाद के रूप में गुड़ खा लें इससे जल्दी लाभ होगा

      हटाएं
  13. pandit ji pranam mere pati ka naam alok agarwal hai dob 14-may-1984 Time of Birth : 13:45 PM (1:45 PM)

    kripya karke bataye nayi naukri kab milegi aur videsh ka kitna yog hai abhi jo naukri hai usme samsaya hai ye naukri chodi chaiye.?..kripya karke bataye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इनकी जन्म कुण्डली अनुसार अक्तूबर 2013 तक कुछ भी हो सकता है यह समय ठीक नही है शनि की महादशा और शनि की साड़े सती भी चल रही है जो कि मानसिक परेशानी और अधिक व्यय का कारण है स्वास्थ के प्रति सावधान भी रहें शनिवार सूर्योदय से पहले पीपल वृक्ष में जो कि मंदिर में हो उस पर जल में चुटकी भे काले तिल और थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर चड़ाये...तथा शाम को वही पर सरसों के तेल का दीपक जलाए मिटटी के दिए में ...तथा रोज़ रात्री में श्री हनुमान चालीसा के 5 पाठ अपने सामने गुड़ रखकर करें पाठ के बाद प्रसाद के रूप में गुड़ खा लें इससे जल्दी लाभ होगा नई नौकरी का योग जल्दी बन जाएगा

      हटाएं
  14. pandit ji pranam mere pati ka naam alok agarwal hai dob 14-may-1984 Time of Birth : 13:45 PM (1:45 PM)

    kripya karke bataye nayi naukri kab milegi aur videsh ka kitna yog hai abhi jo naukri hai usme samsaya hai ye naukri chodi chaiye.?..kripya karke bataye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इनकी जन्म कुण्डली अनुसार अक्तूबर 2013 तक कुछ भी हो सकता है यह समय ठीक नही है शनि की महादशा और शनि की साड़े सती भी चल रही है जो कि मानसिक परेशानी और अधिक व्यय का कारण है स्वास्थ के प्रति सावधान भी रहें शनिवार सूर्योदय से पहले पीपल वृक्ष में जो कि मंदिर में हो उस पर जल में चुटकी भे काले तिल और थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर चड़ाये...तथा शाम को वही पर सरसों के तेल का दीपक जलाए मिटटी के दिए में ...तथा रोज़ रात्री में श्री हनुमान चालीसा के 5 पाठ अपने सामने गुड़ रखकर करें पाठ के बाद प्रसाद के रूप में गुड़ खा लें इससे जल्दी लाभ होगा

      हटाएं
  15. pandit ji pranam mere pati ka naam alok agarwal hai dob 14-may-1984 Time of Birth : 13:45 PM (1:45 PM)

    kripya karke bataye nayi naukri kab milegi aur videsh ka kitna yog hai abhi jo naukri hai usme samsaya hai ye naukri chodi chaiye.?..kripya karke bataye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इनकी जन्म कुण्डली अनुसार अक्तूबर 2013 तक कुछ भी हो सकता है यह समय ठीक नही है शनि की महादशा और शनि की साड़े सती भी चल रही है जो कि मानसिक परेशानी और अधिक व्यय का कारण है स्वास्थ के प्रति सावधान भी रहें शनिवार सूर्योदय से पहले पीपल वृक्ष में जो कि मंदिर में हो उस पर जल में चुटकी भे काले तिल और थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर चड़ाये...तथा शाम को वही पर सरसों के तेल का दीपक जलाए मिटटी के दिए में ...तथा रोज़ रात्री में श्री हनुमान चालीसा के 5 पाठ अपने सामने गुड़ रखकर करें पाठ के बाद प्रसाद के रूप में गुड़ खा लें इससे जल्दी लाभ होगा विदेश जाने में अभी बाधा है कुंडली के अनुसार विदेश का योग तो है लेकिन अभी समय नही आया व् शनि देव बाधा उत्पन्न कर रहे है उपाय करें शीघ्र लाभ होगा

      हटाएं
  16. pandit ji agar mere pati ki jagah pe main ye upay karu to unhe labh hoga?aur mera naam swati garwal hai meri dob 10-oct-1988 aur janam samay raat me 12:05 min hai .meri nayi naukri ke kitne yog hai aur agar hum khud ka makan chahte hai to uska kab tak yog hai.Please koi solution dijiye.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप यह उपाय नही कर सकती है आप राहू की शान्ति करें और सोमवार प्रातः शिव लिंग के पास जल अर्पण करके दो फल चड़ाये..इससे लाभ होगा लेकिन पति का उपाय केवल पति ही करें..सलोनी गोमेद राहू की शान्ति के लिए धारण करें

      हटाएं
  17. pandit ji agar mere pati ki jagah pe main ye upay karu to unhe labh hoga?aur mera naam swati garwal hai meri dob 10-oct-1988 aur janam samay raat me 12:05 min hai .meri nayi naukri ke kitne yog hai aur agar hum khud ka makan chahte hai to uska kab tak yog hai.Please koi solution dijiye.hamare aache din kabse suru honge?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप यह उपाय नही कर सकती है आप राहू की शान्ति करें और सोमवार प्रातः शिव लिंग के पास जल अर्पण करके दो फल चड़ाये..इससे लाभ होगा लेकिन पति का उपाय केवल पति ही करें..सलोनी गोमेद राहू की शान्ति के लिए धारण करें

      हटाएं
  18. my name is swati agarwal.dob-10-oct-1988 time raat me 12 baj ke 5 min,Please kripya mujhe meri job ke baare bataye kab tak nayi job milegi????

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अपना जन्म स्थान बताएं

      हटाएं
  19. my name is swati agarwal.dob-10-oct-1988 time raat me 12 baj ke 5 min,kripya bataye ki meri nayi job kab lagegi?Please

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अपना जन्म स्थान बताएं

      हटाएं
  20. my name is swati agarwal.dob-10-oct-1988 time raat me 12 baj ke 5 min,kripya bataye ki meri nayi job kab lagegi?Please

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अपना जन्म स्थान बताएं

      हटाएं
  21. उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार 14 जुलाई से जॉब का योग बन रहा है

      हटाएं
  22. उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार 14 जुलाई से जॉब का योग बन रहा है

      हटाएं
  23. Please bataiye nayi job kab tak milegi.aapke dwara bataye gaye upay kar raha hu.kaha milegi india me hi ki videsh me.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. उपाय करने से समस्त बाधाये दूर हो जायेगी अच्छी जॉब मिलेगी

      हटाएं
  24. durvesh dob 10-10-1984 2:05 pm
    meri job me prasani chal rahi hai koi upay bataye ya mujhe koi bussnise me jayada fayada hoga pls pandit ji

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म स्थान का विवरण दें...??

      हटाएं
  25. dob 10-10-1984 2:05 pm
    meri job me bahaut jayada tension chal rahi hai or sir mujhe abhi koi job milegi or kab tak milne ke youg hai.. ya mujhe bussiness karne me jayada fayada hai.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जन्म स्थान का विवरण दें...??

      हटाएं
  26. Namskar Pandit Ji,

    Meri Date of birth hai 18-06-1983, time 11:20P.M., Place-Narnaul (Haryana)

    Meri shadi kab hogi, riste bahut aate hai lekin kanhi bat nahi ban rah, please pandit ji bataye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुण्डली के अनुसार राहू के कारण विवाह में बाधा उत्पन्न हो रही है इसके लिए अपने निकट के विद्वान पंडित जी से संपर्क कर राहू की शान्ति करवाएं तो शीघ्र विवाह का कार्य होगा

      हटाएं
  27. my name is alok agarwal
    place of birth :Konch india(up)
    time :1:45 pm
    dob:14-may-1984
    Current city:noida
    Please bataiye nayi job kab tak milegi.abhi mere pass koi job nahi hai aur jis bhi kaam me haath dalta hu uska ulta ho jaata hai.Please naukri ke liye kuch bataiye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार फरवरी 2014 के लगभग जॉब का योग बन रहा है हाँ अक्तूबर से भी एक योग है लेकिन सफलता नही मिलेगी मंगलवार गुड चलते पानी में बहायें मात्रा कम से कम 250gm होनी चाहिए इससे लाभ होगा

      हटाएं
  28. my name is alok agarwal
    place of birth :Konch india(up)
    time :1:45 pm
    dob:14-may-1984
    Current city:noida
    Please bataiye nayi job kab tak milegi.abhi mere pass koi job nahi hai aur jis bhi kaam me haath dalta hu uska ulta ho jaata hai.Please naukri ke liye kuch bataiye

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार फरवरी 2014 के लगभग जॉब का योग बन रहा है हाँ अक्तूबर से भी एक योग है लेकिन सफलता नही मिलेगी मंगलवार गुड चलते पानी में बहायें मात्रा कम से कम 250gm होनी चाहिए इससे लाभ होगा

      हटाएं
  29. प्रणाम महाराज मेरा जनम दिवस ०३-०६-१९८९ है मेरा भाग्यांक क्या है और जितने लोगो को मैंने उधारी दी है वो वापस नहीं कर रहे है मई क्या करू कृपया मेरा मार्गदर्शन करे ??????

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपने अपने जन्म स्थान और जन्म समय का विवरण नही दीया है आपकी ये समस्या केवल भाग्यांक से दूर नही हो सकती है

      हटाएं
  30. प्रणाम महाराज मेरा जनम दिवस ०३-०६-१९८९ है मेरा भाग्यांक क्या है और जितने लोगो को मैंने उधारी दी है वो वापस नहीं कर रहे है मई क्या करू कृपया मेरा मार्गदर्शन करे ??????

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपने अपने जन्म स्थान और जन्म समय का विवरण नही दीया है आपकी ये समस्या केवल भाग्यांक से दूर नही हो सकती है

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में