जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

रविवार, 31 अक्तूबर 2010

फेंगशुई में मछलीघर का चमत्कार...




फेंगशुई के अनुसार, आपके मकान में लघु मछलीघर होना चाहिए. मछलियां रखना सौभाग्य में वृद्धि करने का एक कारगर उपाय है.लघु मछलीघर या फिश बाउल में कुछ गोल्ड फिश रखनी चाहिए.इनमें से आठ ८ मछलियां लाल या सुनहरे की तथा एक मछली काले रंग की होनी चाहिए.


कभी अचानक आपकी गोल्ड फिश मर जाए तो आप बिलकुल चिंता ना करे. आप तुरंत नई मछली ले आइये और उसे बदल दीजिए. ऐसी मान्यता है कि जब आपके घर की कोई गोल्ड फिश मर जाती है तो वह आपके कई दुर्भाग्यों को भी अपने साथ ले जाती है. अगर ऐसा ना हुआ होता तो यह आपत्ति आपके परिवार के किसी सदस्य पर आ सकती है.


गोल्ड फिश रखने का सबसे अच्छा स्थान दीवानखाना है. और इसको रखने की सही दिशा पूर्व, उत्तर, एवं उत्तर-पूर्व है.गोल्ड फिश अपने शयनकक्ष, रसोईघर (भोजनकक्ष) अथवा शौचघर में कभी भूल कर भी ना रखें. इससे आपकी संपत्ति का नुक्सान हो सकता है. यानि कंही पर हानि या घाटा होने की संभावना बन जाती है. आप अपने घर के मुख्य द्वार के दाहिनी ओर कभी भूल कर भी अपना लघु मछली घर न रखें. दांये और बांये का निर्धारण अपने घर के अंदर खड़े हो कर मुख्य द्वार की ओर मुंह करके करे. इससे घर के पुरुष की नजर पराई स्त्रियों पर रहती है जो कि घर के लिए उचित नहीं होती है.


यदि पानी वाली वस्तुए सही स्थान पर रखी जाए तो यह भाग्य के लिए बहुत ही लाभदायक हो सकती है. यदि इन्हें गलत स्थान पर रख दिया जाए तो यह भाग्य के लिए अत्यंत हानिप्रद साबित होती है.

ज़िंदा मछलियों के बदले आप नीले पानी में ऊपर कूदती हुई डॉल्फिन मछली के चित्र या पोस्टर का भी प्रयोग कर सकते है. लेकिन जीवित गोल्ड फिश मछली अति उत्तम फलदायक होती है.

शुभमस्तु !!



2 टिप्‍पणियां:

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में