जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

गुरुवार, 11 नवंबर 2010

जीवन में सिन्दूर का चमत्कार...




सिन्दूर एक ऐसी वास्तु है, जो कि हमारे जीवन में अत्यधिक महत्व रखती है. इसके बिना सुहागिन भी अधूरी है,और प्रत्येक देवी देवता के पूजन में सबसे पहले इसकी उपयोगिता सभी को मालूम है. अर्थात बिना सिन्दूर, कुंकुम, रोली के हम इस जीवन में खुशियाँ भी नहीं मना सकते है.ज्योतिष अनुसार भी सिन्दूर का अपना एक विशेष स्थान है, और तंत्र, मन्त्र या यंत्र साधना से जुड़ें क्रिया कलापों में सिन्दूर बहु प्रचलित सामग्री है.

इसका उपयोग सामान्य धार्मिक कर्मों से लेकर गूढ़ तांत्रिक कर्मों तक किया जाता है. सिन्दूर के वैसे तो अनेक प्रयोग है. किन्तु आज यहां पर कुछ सरल एवं शीघ्र फलकारी प्रयोग लिख रहा हूं जो कि हमारे ऋषि मुनियों ने मनुष्यों की भलाई के लिए शास्त्रों में किसका वर्णन किया है.इसका सविधि एवं श्रद्धापूर्वक प्रयोग करने से अवश्य ही मनोकामना पूर्ण हुई है.

१:- जिन व्यक्तियों को मंगली दोष है, अथवा मंगल दोष के कारण विवाह में विलम्ब अथवा दाम्पत्य सुख में कमी का अनुभव हो रहा हो, तो उन्हें शुक्ल पक्ष के मंगलवार को श्री हनुमान जी पर सिन्दूर चढ़ाना चाहिए. यह प्रयोग नौ बार करे, तो निश्चय ही सफलता प्राप्त होगी.

२:- जिन व्यक्तियों को आए दिन वाहनादि से दुर्घटना का सामना करना पड़ रहा है, तो उन्हें मंगलवार के दिन श्री हनुमान जी के मंदिर में सिन्दूर दान करना चाहिए. इससे शीघ्र हो दुर्घटना का भय आदि समाप्त होता है.

३:- यदि आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है तो, एकाक्षी नारियल पर सिन्दूर चड़ा कर उसे लाल वस्त्र में बांधकर माँ लक्ष्मी से धन की प्रार्थना करते हुए अपने व्यवसाय स्थल पर रख देना चाहिए इसके प्रभाव से धन की समस्या दूर होने के साधन बनते जायेंगे.

४:- यदि सूर्य अथवा मंगल आपके लिए मारक ग्रह है और उनकी महादशा या अंतर्दशा चल रही है, तो सिन्दूर को बहते जल में प्रवाहित करें ऐसा करने से सम्बंधित ग्रह का प्रभाव कम हो जाता है. और सूर्य तथा मंगाल मारक न बन कर शुभ ग्रह का फल देने लगते है.

५:- यदि प्रतियोगी परीक्षा में आप बैठ रहे है, तो गुरु-पुष्य योग में अथवा शुक्ल पक्ष के पुष्य योग में श्री गणेश जी के मंदिर में सिन्दूर का दान करने से परीक्षा में परिश्रम से अधिक सफलता प्राप्त होगी, तथा आत्मविश्वास की वृद्धि भी होगी.

६:- यदि रक्त से सम्बंधित किसी रोग से आप पीड़ित है, तो सिन्दूर को अपने ऊपर से उसारकर बहते हुए जल में प्रवाहित करें, ऐसा करने से रोग में लाभ मिलता है. और रोग शीघ्र शांत हो जाता है.

७:- जिन व्यक्तियों को नजर अधिक लगती है, इन्हें सम्भव हो सके तो प्रत्येक दिन अन्यथा मंगलवार और शनिवार को श्री हनुमान जी के मंदिर में जाकर उनके चरणों से थोड़ा सा सिन्दूर लेकर अपने मस्तक पर धारण करना चाहिए ऐसा करने से नजर दोष से बचाव हो जाता है.

८:- यदि आपके ऊपर किसी ने अभिचार कर दिया है, अथवा भूत, प्रेत आदि उपरी बाधा से पीड़ित है, तो अपने क्षेत्र के प्रसिद्द श्री हनुमान मंदिर में सिन्दूर का चोला चढाना चाहिए ऐसा पांच बार करें. सारी बाधाए एकदम समाप्त होने लगेंगी.

९:- यदि आपके ऊपर अभिचार कर्म किये जाने की आशंका हो, तो शनिवार को दोपहर में किसी एकांत चौराहे पर नींबू काटकर उसके चार फांक कर ले और उसमे सिन्दूर डाल कर उसे चारों दिशाओं में फेंक दे. ऐसा करने से आपके शत्रु द्वारा किया गया अभिचार कर्म पूर्ण रूप से समाप्त हो जायगा.

१०:- अपने घर के मुख्यद्वार के ऊपर सिन्दूर चढ़ी हुई श्री गणेश जी की प्रतिमा स्थापित करने से घर में सुख समृद्धि एवं शान्ति बनी रहती है.

११:- यदि आप कर्जों से परेशान है. अथवा व्यवसाय में बाधा उत्पन्न हो रही हो अथवा आय में वृद्धि नहीं हो पा रही हो, तो सिन्दूर का यह प्रयोग आपके लिए अत्यंत लाभकारी रहेगा, एक सियार सिंगी लेकर उसे एक डिब्बी में रख ले और उसे प्रत्येक पुष्य नक्षत्र में सिन्दूर चढाते रहे. ऐसा करने से शीघ्र ही शुभ फल मिलेगा.

१२:- अपनी तिजोरी में सिन्दूर युक्त हत्था जोड़ी रखने से आर्थिक लाभ में वृद्धि होने लगती है.

१३:- जो महिलाए अपने परिवार और पति को स्वस्थ और आर्थिक समस्या से मुक्त देखना चाहती है, उन्हें प्रतिदिन अपनी मांग में सिदूर प्रातः और संध्या के समय अवश्य भरना चाहिए. मांग में सिन्दूर भरने से शास्त्र में वर्णित है कि जो महिला अपनी मांग नित्य प्रातः और संध्या के समय भरती है उसका परिवार हमेशा रोगमुक्त, भयमुक्त तथा संपन्न रहता है. औए पति की आयु में वृद्धि होती है घर में कभी कर्ज नहीं चढता है और वह महिला सदा सुहागन का जीवन व्यतीत करती है.

१४:- जो महिला कामकाजी है यदि वो सिन्दूर से प्रतिदिन अपनी मांग भरती है तो उसकी उन्नति होने लगती है. तथा घर बरकत बनी रहती है.

१५:- मांग भरने से महिला के ससुराल पक्ष को ही लाभ नहीं मिलता बल्कि उसके मायके परिवार में भी लाभ होता है. उसके भाई- बहनों से अच्छे सम्बन्ध होने लगते है. तथा सदभाव बढता है. किसी भी प्रकार के भेदभाव समाप्त हो जाते है चाहे वह ससुराल या मायके के पक्ष के हो.

इस प्रकार एक सिन्दूर हमारे जीवन में अनेक खुशियों के लेकर आता है. आज ही सिन्दूर का उपयोग करें और अपने घर से दुर्भाग्य को दूर कर दे...


शुभमस्तु !!




21 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही ज्ञानवर्धक एवं बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेनामी5/17/2011 12:04 pm

    Printing not possible ? how we can use it, it not possible every time to see on computer

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेनामी6/24/2011 6:33 am

    benami ji print scm karen aur excel main paste karke print lenle

    उत्तर देंहटाएं
  4. बेनामी जी आप अपना नाम और इमेल add लिखे, आपको यह लेख मेल कर देंगे धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. Ati sunder jaankari k liy aapka bahut bahut dhyanvaad

    उत्तर देंहटाएं
  6. shriman ji aap muje sarkari nokari milne ke ache upay batane ka kripa kare

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप अपना जन्म विवरण तो कृपया लिखें उसके बिना कैसे बताएं

      हटाएं
  7. guruji aap mera margdarshan kare or bataye ki sarkari nokari kya mere bhagya me he ya kuch upay bataiye

    उत्तर देंहटाएं
  8. प्रणाम पंडित जी ,
    मेरा नाम मनीष मिश्र है मेरा जनम 21 अक्टूबर 1982 में रात 9 बजे कानपूर उत्तर प्रदेश में हुआ है मै Airforce में
    जॉब करता हु मै P.C.S (सिविल service) की तै यारी केर रहा हु क्या मै P.C.S अधिकारी बन पाउँगा और मेरी आर्थिक स्थिति

    कैसी रहेगी मेरे इष्ट देव कौन है और सफलता के लिए क्या करना चाहिए

    कर्यपा उत्तर दे आपका बहुत आभार होगा

    उत्तर देंहटाएं
  9. नमस्ते पंडित जी ,
    आपके ब्लोग बहुत अच्छे ही ,
    कृपया मुझे बताये कि मुझे संतान प्राप्ती कब तक होगी और मुझे कौनसा व्यवसाय करणा चाहिये, क्या मुझे व्यवसाय फायदेमंद है या नही ?
    नाम - विजय पाटील
    बर्थ डेट - 25/11/1985
    बर्थ टायीम - 07:15 AM
    बर्थ प्लेस - कोल्हापूर (महाराष्ट्र)
    E-mail - vvp3732@yahoo.in
    PLEASE REPLY PANDIT JI ,
    I AM WAITING YOUR VALUABLE REPLY.
    THANKS.
    VIJAY PATIL

    उत्तर देंहटाएं
  10. नमस्ते पंडित जी ,
    आपके ब्लोग बहुत अच्छे है,
    कृपया मुझे बताये कि मुझे संतान प्राप्ती कब तक होगी और मुझे कौनसा व्यवसाय कारण चाहिये , क्या मुझे व्यवसाय फायदेमंद है या नही ?
    NAME - vijay patil
    DOB - 25/11/1985
    TIME - 07:15 AM
    PLACE - kolhapur (maharashtra)
    E-mail - vvp3732@yahoo.in
    PLEASE REPLY PANDIT JI,
    I AM WAITING YOUR VALUABLE REPLY.
    THANKS ,

    उत्तर देंहटाएं
  11. पंडत जी नमस्कर,
    मेरा नाम नरेश कुमा गोयल है,
    मेरी जनम तिथि ७-४-१९६४ है और समय 9:24 P.M
    मै मसूरी ( उत्तराखंड ) का निवासी हू ।
    मै मसूरी से अपनी प्रॉपर्टी बेच कर देहरादून शिफ्ट होना चाहता हू
    क्या मै इस कार्य मै सफल हो पाउँगा ?

    उत्तर देंहटाएं
  12. पंडत जी नमस्कर,
    मेरा नाम नरेश कुमार गोयल है,
    मेरी जनम तिथि ७-४-१९६४ है और समय 9:24 pm
    मै मसूरी ( उत्तराखंड ) का निवासी हू ।
    मै मसूरी से अपनी प्रॉपर्टी बेच कर देहरादून शिफ्ट होना चाहता हू
    क्या मै इस कार्य मै सफल हो पाउँगा ?

    उत्तर देंहटाएं
  13. शर्मा जी मेरी dob 25 03 1980 है पिछले कुछ दिनों से हम अपने घर में रखी हनुमान जी मूर्ति पर मंगलवार और शनिवार को देशी घी में सिंधूर मिला कर चढाते है और दोनों दिन सात बार हनुमान चालीसा का पाठ करते है क्या ऐ हमारी कंुडली और ग्रहो के लिए ठीक है आप के सुझाव के लिए आभारी
    राम मिश्र

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अपने घर के श्री हनुमान जी को सिन्दूर नही चडाते है मंदिर में जाकर ही सिन्दूर चढ़ाएं तभी लाभ होगा घर में केवल श्रद्धा अनुसार पाठ ही करें

      हटाएं
  14. Mera naam Neha tiwari hai mera janm 01/06/1989 KO Indore me hua tha raat KO 3:30 am par me apne jiwan se bilkul khush nahi hu bohot kam Umar se kaafi pareshaniya Delhi hai kya meri life bi kabhi acchi ho payegi me apne pariwar KO Har khushi de paungi kabhi

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार भाग्य स्थान में शनी बाधक हो कर स्थित होने से जीवन में कठिनाइया आती है आप एमेथिष्ट रत्न पांच कैरट का धारण करें तो जल्दी लाभ होगा और अपने घर में 9 मोर के पंख का गुलदस्ता बना कर रखें तो बाधाएं दूर होना आरम्भ हो जायेगी

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में