जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

गुरुवार, 9 फ़रवरी 2012

कन्या की शादी में वास्तु तो बाधाकारक नहीं है ?



वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि कन्या के विवाह में विलम्ब हो रहा हो तो उस कन्या को घर के वायव्य कोण अर्थात उत्तर-पश्चिम कोण में शयन कक्ष देना चाहिए अर्थात वास्तु शास्त्र के नियम अनुसार विवाह योग्य कन्या को घर के उत्तर-पश्चिम (वायव्य) कोण में रहना चाहिए. क्योंकि वायव्य कोण में वायु तत्व की प्रबलता ज्यादा होती है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वायव्य कोण पर चंद्रमा का अधिकार होता है तथा इसके देवता वायु है इस स्थान की दिशा, देव तथा ग्रह तीनो की प्रकृति चलायमान है. इसलिए विवाह योग्य कन्या हेतु वायव्य कोण का कमरा सर्वोत्तम है, 

लेकिन इसके विकल्प के रूप में यदि घर में वायव्य कोण में कमरा ना हो या ऐसी व्यवस्था नहीं की जा सकती है तो उत्तर-पूर्व (ईशान्य) कोण का चयन भी किया जा सकता है किसका द्वार वायव्य कोण से खुलता हो.

यहां एक बात ध्यान देने योग्य है कि वायव्य कोण का कमरा कन्या के विवाह की दृष्टि से तो अच्छा है, लेकिन कन्या को लड़के वालो को दिखाने के लिए ठीक नहीं है.इस कमरे में कन्या को दिखाई की रस्म अदायगी से विवाह नहीं हो पायेगा.

अतः विवाह योग्य कन्या को यदि वर या वर पक्ष वाले देखने आये तो उन्हें पूर्व, ईशान या उत्तर दिशा में बने कमरों में बिठाना चाहिए.

कक्ष/कमरे का रंग हल्का गुलाबी या आँखों को सुन्दर लगने वाला कोई अन्य हल्का रंग होना अति शुभ माना जाता है.

कन्या को हल्का पीला या हल्का गुलाबी रंग के वस्त्र पहनाने से वर और वर पक्ष वाले वशीभूत हो जाते है.

विवाह योग्य कन्याओं को अपने शयन कक्ष में सुन्दर चित्र लगाने चाहिए, जोड़ो में विचरण करने वाले पक्षियों के और श्री राधाकृष्ण जी या शिवपार्वती जी के सुन्दर युगल चित्र कक्ष में लगाने से विवाह का शीघ्र योग बनने लगता है

इस प्रकार के चित्र लगाने से बाह्य तथा अंतर्मन दोनों का वातावरण बदल जाता है और कार्य सुगमता से संपन्न हो जाता है तथा वैवाहिक जीवन भी सुखमय व्यतीत होता है.

शुभमस्तु....





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में