जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

रविवार, 20 जनवरी 2013

आपका घर और 8 नम्बर ....




आप सोच रहें होंगे, कोई अंक अच्छे या बुरे भी होंगे. नहीं, आप विश्वास कीजिये, कोई भी अंक अच्छा या बुरा नहीं होता . जिस प्रकार कोई भी ग्रह शुभ या अशुभ नहीं होता. हर व्यक्ति के जीवन पर उनका भिन्न भिन्न प्रभाव रहता है.उसी प्रकार अंको का भी हमारे जीवन शैली पर है. अंको की एक सुनिश्चित गति है, स्पष्ट लक्षण है, स्पष्ट अर्थ है. एक क्रम व योजना है. उसे भली प्रकार समझ लें तो मानव जीवन को समझना सरल हो जाता है.
भाग्यांक के लिए जन्म तारीख, जन्म मास्, जन्म वर्ष की आवश्यकता रहती है. सवाल यह है कि भाग्यांक कैसे बनाया जाये ? उदाहरण:- माना किसी की जन्म तिथि २७-०६-१९६२ है तो तारीख को जोड़ा २+७=९, मास् का योग किया तो ०+६= ६, जन्म वर्ष को जोड़ा तो १+९+६+२= १८, अब इन तीनों का जोड़ करेंगे ९+६+१८= ३३ आया इसका फिर एक अंक में परिवर्तन करने के लिए जोड़ेंगे तो ३+३= ६ अंक हमारे सामने आ रहा है बस यही भाग्यांक का अंक है अर्थात उपरोक्त जन्म तिथि के अनुसार हम कह सकते है कि भाग्यांक ६ है. अब भाग्यांक के फल पर भी विचार करते है. 

धनवान बनाता है अंक 8 वाला घर....कैसे जानिये.......

अंकशास्त्र के अनुसार 8 अंक वाला घर आर्थिक मामलों में भाग्यशाली होता है। इसलिए आर्थिक 


समस्याओं में सुधार के लिए अपने घर का अंक चाहें तो बदल सकते हैं। 


अगर आप किराये पर रहते हैं तो ऐसा घर लें जिनका अंक जोड़ने पर अंक 8 प्राप्त हो। अंकज्योतिष 


में अंक आठ को शनि प्रभावित घर कहा जाता है। 


ज्योतिषशास्त्र में शनि को पाप ग्रह कहा गया है लेकिन, भाग्य को सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाला 


ग्रह भी यही है। शनि की स्थित अनुकूल हो तो व्यक्ति को भाग्य का सहयोग हमेशा मिलता रहता 

है। 


अंकज्योतिष के अनुसार 8 अंक वाले घर में रहने वालों को समय-समय पर उन्नति के अवसर 

मिलते रहते हैं। लेकिन यह भी जरूरी है कि व्यक्ति अवसरों का लाभ उठाने के लिए प्रयास करें। 

इस अंक के घर में रहने वाले लोग व्यवहारिक और जिम्मेदार होते हैं। 

आठ अंक के घर की उर्जा व्यक्ति को मनी माइडेड बनाती है व्यक्ति हमेशा आर्थिक उन्नति का 

विचार करता है। व्यापार के विचार इनके मन में आते रहते हैं। 


इसलिए व्यापारियों के लिए इस अंक का घर बेहद लकी होता है। 

अंक आठ वाले घर में पुरानी मान्यताओं और परंपराओं का ध्यान रखा जाता। घर की उर्जा, बनावट 

और पेंटिंग घर को वास्तविक स्वरूप से बड़ा एहसास दिलाती है। चिकित्सक, मैनेजर, खिलाड़ियों

राजनीतिज्ञों एवं शेयर का कारोबार करने वालों के लिए इस अंक का घर लकी होता है। वैसे लोग 

जिनका जन्म किसी भी महीने की 8, 17, अथवा 26 तारीख को हुआ है उनके लिए भी अंक आठ 

वाला घर लकी होता है।  

घर का अंक ज्ञात करने का तरीका



अपने घर का नंबर जोड़ें। अंग्रेजी का कोई लेटर है तो उसे भी जोड़ लें जैसे F-2F अंग्रेजी का 6वां 

लेटर है इसलिए F के लिए 6 अंक लेंगे और इसमें 2 को जोड़ेंगे। इस प्रकार अंक 8 प्राप्त हो जाएगा। 

इसी प्रकार आप भी अपने घर का मूलांक निकालिए और अपने घर की विशेषता जानिए।







कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में