जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

मंगलवार, 5 मार्च 2013

स्वाद व् रंग से ग्रहों के शुभ अशुभता जानें....




जी हाँ चौंकिए मत यह बिलकुल सच है की आप अपने खाने के स्वाद  रंग से भी अपनी जनम कुंडलीके शुभ  अशुभ ग्रहों के बारे में जान सकते हैंऔर उनका समय रहते इलाज कर सकते हैं। 
'लालकिताबमें इस विषय के बारे में बहुत अधिक विस्तार से तो नहीं बताया गया हैहाँ मगर इशारा ज़रूरदिया गया है। 
हम जानते हैं की प्रत्येक ग्रह का सम्बन्ध किसी  किसी व्यक्ति या वस्तु से होता है औरप्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष हम पर उसका प्रभाव भी पड़ता है। प्रकृति का नियम है की जो चीज़ कम होती हैउसकी पूर्ती के लिए वह दूसरी अन्य चीज़ों पर निर्भर करती है


ठीक इसी तरह मानव शरीर में भी जिसचीज़ की कमी होगी हमारा शरीर उसकी पूर्ती करने के लिए उन चीज़ों का प्रयोग अधिक करेगा। 

जैसेकी यदि हमारे शरीर में आयरन या कैल्शियम की कमी होती है तो डाक्टर भी हमें उसकी पूर्ती के लिएआयरन  कैल्शियम लेने के लिए कहते हैं ..

चाहे गोली के रूप में या भोजन के रूप में। 

मगर यह तो बात हुई कमी पूर्ती की मगर ग्रहों के साथ ऐसा नहीं है ग्रहों के मामले में जो ग्रह कुंडली में अशुभ होगा 

हमारा स्वत ही उस ग्रह से सम्बंधित चीज़ों में लगाव बढ़ जायेगा यानि जब हमारी जनम पत्री में कोई ग्रह अशुभ अवस्था में होता है 
  
तो हमारा झुकाव स्वत ही उस ग्रह से सम्बंधित चीज़ों की तरफ होगा और हम स्वत ही उस ग्रह से सम्बंधित चीज़ें अधिक मात्रा में प्रयोग करने लगेंगे और यह स्वभावतः ही होगाजानबूझकर नहीं। आईये जाने की 'लाल किताबअनुसार जब हमारी जनम पत्री में कोई ग्रह अशुभहोता है तो इसका हमारे स्वाद  रंगों के चयन  पर क्या असर पड़ता है।

·                     बृहस्पति - बृहस्पति का सम्बन्ध पीली वस्तुयों से है खासकर हल्दीचने की दालइत्यादि यदि जनम पत्री में बृहस्पति अशुभ होगा तो व्यक्ति अपने खाने में हल्दी काप्रयोग ज्यादा करता होगा या उसे चने की दाल बहुत पसंद होगी और वो हर दूसरे दिनचने की दाल खाता होगा। उसे पीले रंग  पीली वस्तुयों से खासकर लगाव होगा।
·                     सूरज - सूरज का गंदमी (भूराखाकीरंग है कुंडली में सूरज के अशुभ अवस्था में होनेपर व्यक्ति अपने खाने में तेज़ नमक (सफ़ेदखाता होगा उसे आदत होगी की कोई भीसब्जी आये उसे बिना चखे ही वो उसमे और नमक डाल देगाऐसा व्यक्ति लाल या ताम्ररंग या फिर खाकी रंग से उसे बहुत लगाव होगासरकारी वर्दी का कोई वहम नहीं।
·                     चन्द्र - चन्द्र का रंग दूध जैसा सफ़ेद हैचन्द्र कमज़ोर होने पर व्यक्ति दूध या चावलआदि के सेवन का अधिक शौक़ीन होगाहफ्ते में कम से कम - बार या शायद रोज़खाने में उसे चावल चाहिए और सफ़ेद रंग से भी उसे काफी लगाव होगा। ऐसा व्यक्ति बर्फखाने का भी शौक़ीन होगाखासकर ऐसे व्यक्ति अपने जाम में खूब सारी बर्फ डालते हैं।
·                     शुक्र - शुक्र का रंग भी सफ़ेद ही है (दही जैसा), शुक्र कमज़ोर होने पर व्यक्ति आलू,जिमीकंदगाजर खाने का बहुत शौक़ीन होगाउसके खाने में इन सब्जियों की मात्राअधिक होगीघी  दही का भी वह भरपूर सेवन करता होगा। सफ़ेद रंग उसे बहुत प्रियहोगा।
·                     मंगल - मंगल का लाल रंग हैसौंफमीठाशहद या खांड ऐसे व्यक्ति को बहुत प्रिय होगीजो की मंगल कमज़ोर या अशुभ होने की निशानी है यानि की ऐसा व्यक्ति मीठा खाने काबहुत शौक़ीन होगाउसके पहरावे में लाल रंग उसे सबसे प्रिय होगा। मंगल यदि बद हो तोऐसा व्यक्ति लाल मिर्च खाने का या वैसे ही उसे तीखा भोजन अधिक प्रिय होगा।
·                     बुध - बुध का हरा रंग हैबुध यदि कुंडली में अशुभ हो तो व्यक्ति अंडामीटशराबकबाबआदि का बहुत शौक़ीन होगा साबत मूंग दाल हरीमटरआदि का सेवन अधिक करताहोगा और उसे हरा रंग बहुत प्रिय होगा।
·                     शनि - शनि का रंग काला हैयदि शनि कुंडली में अशुभ हो तो व्यक्ति काला नमककालेमांहकाली मिर्चचने सफ़ेद  काले दोनोंमछलीभुने या तले  हुए बादामशराब आदिका बहुत शौक़ीन होगा और उसे अपने पहरावे में काला रंग सबसे प्रिय होगा।
·                     राहू - राहू का रंग नीला हैकुंडली में राहू के अशुभ अवस्था में होने पर व्यक्ति जौ से बनीचीज़ें जैसे की बीयरधूम्रपान आदि का बहुत शौक़ीन होगाउसे नारियल से बनी चीज़ें भीपसंद होंगी और वो अपने पहरावे में नीला रंग सबसे ज्यादा इस्तेमाल करता होगा।
·                     केतु - केतु का रंग काला सफ़ेद (दो रंगया फिर केतु रंगबिरंगा अथवा चितकबरा रंग है,केतु यदि कुंडली में अशुभ हो तो व्यक्ति खट्टा खाने का बहुत शौक़ीन होगा जैसे कीइमलीखट्टे अचारप्याजलहसूनऔर केला उसे बहुत प्रिय होगा।

इस प्रकार आप अपने खानपान  रंगों के शौक से जान सकते हैं की आपकी जनम कुंडली में कौन कौनसे ग्रह अशुभ है और उनकी अशुभता दूर करने के लिए आप उस ग्रह से सम्बंधित चीज़ों का प्रयोग कमया बिलकुल बंद कर दे तो आपको बहुत लाभ होगा और यह बिलकुल आजमाई हुई बात हैविश्वास नहींतो स्वयं करके देखें।

शुभमस्तु !!


8 टिप्‍पणियां:

  1. Sharma Ji Namaskar
    Jaisa ki aapne likha hai.. kripya yeh bataye ki...Mujhe Black Colour bhi pasand hai... White colour bhi pasand hai, kuch 8 - 10 dino se Milk me haldi dalkar peene ki aadat ho gayi hai, Red colour ke kapde bhi main dalta hu... aur bhi bahut si baate hai ...aise me main kaise samjh sakta hu ki konsa grah shubh hai ya ashubh....kapde to kisi na kisi colour ke dalte hai Doodh , Dahi, daily use karte hai.......... Main confuse ho gaya hu.. kaise samadhan hoga...?Kya karein?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ऐसा सभी ग्रहों की उपस्थिति से होता है लेकिन जो वस्तु सबसे अधिक प्रयोग होती है उसी के अनुसार अपना ग्रह फल देखें

      हटाएं
  2. Sharma Ji Namaskar
    Jaisa ki aapne likha hai . kripya mera margdarshan kare....Kapde toh sabhi sabhi range ke dalta hi hu jaise White, Black & Red, Milk daily use aur dahi 2 - 3 times in week, 7 - 8 dino se doodh me haldi dalkar peena, Paneer 3 time in week, kaise soche ki kon sa grah kharab hai ya sahi.. confuse ho gaya jankari padhkar please suggest. kaise jankar milegi.. Dhanyawad

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ऐसा सभी ग्रहों की उपस्थिति से होता है लेकिन जो वस्तु सबसे अधिक प्रयोग होती है उसी के अनुसार अपना ग्रह फल देखें

      हटाएं
  3. Sharma Ji Namaskar
    Jaisa ki aapne likha hai . kripya mera margdarshan kare....Kapde toh sabhi sabhi range ke dalta hi hu jaise White, Black & Red, Milk daily use aur dahi 2 - 3 times in week, 7 - 8 dino se doodh me haldi dalkar peena, Paneer 3 time in week, kaise soche ki kon sa grah kharab hai ya sahi.. confuse ho gaya jankari padhkar please suggest. kaise jankar milegi.. Dhanyawad

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ऐसा सभी ग्रहों की उपस्थिति से होता है लेकिन जो वस्तु सबसे अधिक प्रयोग होती है उसी के अनुसार अपना ग्रह फल देखें

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में