जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

बुधवार, 10 अप्रैल 2013

नव विक्रम संवत 2070 की शुभकामनाये.......





आप सभी को विक्रम संवत २०७०  की शुभकामनाएं......



शुभमय मधुमय मंगलमय हो,


निज ह्रदय कामना करता हूँ .


नव विक्रम संवत का पल पल,


मैं तुम्हें समर्पित करता हूँ......




नव संवत मंगलमय हो,

हर दिन खुशहाली लायें,

तन मन रहे प्रफुल्लित,

समृद्धि परिवार में आएं......



4 टिप्‍पणियां:

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में