जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

सोमवार, 13 मई 2013

श्री हनुमान जी की साधना से सभी संकट दूर करें...



श्रीहनुमान रुद्र के ग्यारहवें अवतार माने गए हैं। रुद्र यानी दु:खों का नाश करने वाले देवता। 

शिव का यह रूप कल्याणकारी माना गया है। शास्त्र भी कहते हैं कि शिव ही परब्रह्म है

जो अलग-अलग रूपों में जगत की रचना, पालन और संहार शक्तियों का नियंत्रण करते हैं । 


शिव के प्रति इस भाव व आस्था से ही श्रीहनुमान की पूजा भी दोष, कष्ट, बाधाओं व घर-परिवार पर अचानक आए संकट को टालने वाली मानी गई है। 

  



ऐसी ही मंगल की कामना से  परिवार, काम या कारोबार पर अचानक आए संकट को टालने के लिए हनुमान पूजा के लिए यहां बताया जा रहा अचूक उपाय अपनाए एक ऐसा, जो न केवल आसान है, बल्कि संकटमोचक भी है। 

 यह उपाय है -  

तेल का दीप लगाकर मंत्र विशेष का ध्यान।

श्रीहनुमानजी की पूजा सिंदूर, अक्षत, फूल अर्पित करें और धूप व दीप से पूजा करें। 

 पूजा में सरसों या तिल के तेल का दीप लगाएं। दीपक लगाते वक्त यह दीप मंत्र बोलें - 

"साज्यं च वर्तिसं युक्त वह्निना योजितं मया। 

दीपं गृहन्तु देवेशास्त्रैलौक्यतिमिरापहम्।। "

- दीप लगाने के बाद इस हनुमान मंत्र का यथाशक्ति जप करने के बाद इस दीप से आरती करें - 

___________ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्_______

 आरती के बाद मंत्र जप, पूजा या आरती में हुई गलती के लिए क्षमा मांगे और अनिष्ट शांति की कामना करें।


शुभमस्तु !!








8 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी मार्गदर्शक पोस्ट...आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  2. sai ji panna dhard karne ka vidan batane ki kripa kare ram mishra

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शुक्ल पक्ष के प्रथम बुधवार प्रातः बुध की होरा में पन्ना धारण किया जाता है मुहूर्त अपने विद्वान निकट के पंडित जी से संपर्क कर पहने

      हटाएं
  3. sir ji budh ki hora 12 se 1 hoti hai fir prat kaise ho sakti hai aap ki 1 post me maine dekha tha

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बुधवार प्रातः सूर्योदय से एक घंटे बाद तक बुध की ही होरा होती है आप किसी विद्वान पंडित जी से संपर्क करें

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में