जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

सोमवार, 20 मई 2013

तोते द्वारा बच्चों की स्मरण शक्ति बढायें......



आमतौर पर देखने में आता है कि बच्चे खेलने में अधिक रूचि लेते हैं और पढ़ाई से जी चुराते हैं। अगर आपके बच्चों के साथ भी यही हाल है तो झट से एक पोस्टर खरीदकर ले आएं जिस पर हरे रंग के तोता का तस्वीर बना हुआ हो। वास्तुशास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा में इस तस्वीर को लगाने से पढ़ाई में बच्चों की रूचि बढ़ती है साथ ही उनकी स्मरण क्षमता में भी इजाफा होता है।

धन और बुद्घि की दिशा है उत्तर..........

वास्तु विज्ञान में उत्तर दिशा का स्वामी कुबेर को कहा गया है जबकि इस दिशा का प्रतिनिधि ग्रह बुध को बताया गया है। कुबेर धन के देवता हैं और बुध बुद्घि और व्यापार के कारक ग्रह हैं। वास्तु के अनुसार उत्तर दिशा दोषपूर्ण होने पर व्यक्ति की बुद्घि भ्रमित होती है जिससे समय पर निर्णय लेने की क्षमता व्यक्ति में कम हो जाती है जिससे आर्थिक उन्नति बाधित होती है।

इस दिशा के दोषपूर्ण होने से छोटे बच्चों का मन अधिक चंचल रहता है जिससे पढ़ाई पर पूरा ध्यान नहीं दे पाते हैं। 
हरा रंग और हरे रंग का पक्षी यानी तोता बुध का प्रिय होता है। 
उत्तर दिशा में हरे रंग के तोता का तस्वीर लगाने से उत्तर दिशा का दोष समाप्त हो जाता है और बुध का शुभ फल प्राप्त होने लगता है।
व्यापारियों को भी अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान में उत्तर दिशा को दोष मुक्त रखने के लिए उत्तर दिशा में हरे रंग के तोते की तस्वीर लगानी चाहिए।

 इससे अपनी बुद्घि और क्षमताओं का व्यापार में पूरा इस्तेमाल कर पाएंगे जिससे व्यापार तेजी से उन्नति की ओर अग्रसर होगा।


शुभमस्तु !!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में