जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

सोमवार, 15 सितंबर 2014

क्या पन्ना रत्न मेरे लिये भाग्य कारक रहेगा.......


बुध रत्न पन्ना को बुद्धि विकास और सौन्दर्य वृ्द्धि के लिये धारण किया जाता है. इस रत्न के कई नाम है, जिनमें से कुछ नाम मरकत, हरित्मणि, गरूडागीर्ण, सौपर्णी आदि कहा जाता है. इस रत्न को धारण से व्यक्ति की स्मरणशक्ति की वृ्द्धि होती है. बौद्धिक कार्यो में रुचि बढाकर यह व्यक्ति में चतुरता का भाव लाता है.     

पन्ना रत्न कौन धारण करें...

पन्ना रत्न धारण से व्यक्ति को इस बात की जांच कर लेनी चाहिए कि यह रत्न लग्न के अनुकुल है भी या नही़. जब कोई भी रत्न अपने लग्न के अनुसार शुभता/ अशुभता जाने बिना धारण किया जाता हैतो व्यक्ति को कई बार इससे लाभ प्राप्त होता है. परन्तु कई बार यह व्यक्ति की परेशानियों में वृ्द्धि कर सकता है. आईए 12 लग्नों के लिये यह किस प्रकार के फल दे सकता है. इस विषय पर विचार करते है.
मेष लग्न-
मेष लग्न के व्यक्तियों को बुध रत्न पन्ना धारण नहीं करना चाहिए. इस लग्न के लिये बुध तीसरे वे छठे भाव के स्वामी होने के कारण अनुकुल फल देने में असमर्थ होते है. 
   

वृ्षभ लग्न-

वृ्षभ लग्न के लिये बुध दूसरे और पंचम भाव के स्वामी है. साथ ही लग्नेश शुक्र के मित्र भी है. अत: दोनों प्रकार से शुभ है. इसलिये वृ्षभ लग्न के व्यक्ति पन्ना धारण कर लाभ प्राप्त कर सकते है. इसे धारण करने से व्यक्ति को बुद्धिबलयशभाग्योदय देता है.  
   

मिथुन लग्न-

मिथुन लग्न के लिये बुध रत्न पन्ना लग्नेश का रत्न होने के कारण सर्वथा शुभ है. इस लग्न के व्यक्ति इसे निसंकोच धारण कर सकते है.  

कर्क लग्न-

कर्क लग्न में बुध तीसरे व द्वादश भाव का स्वामी है. इस लग्न के व्यक्तियों का इस रत्न को धारण करना शुभ नहीं है. 

सिंह लग्न-

सिंह लग्न के व्यक्तियों के लिये बुध दुसरे व एकादश भाव के स्वामी है. परन्तु लग्नेश के मित्र नहीं है. ऎसे में इस रत्न को केवल महादशा अवधि में ही धारण करना चाहिए. 

कन्या लग्न-

इस लग्न के लिये बुध लग्नेश और दशमेश है. कुंडली के ये दोनों ही भाव शुभ है. इसलिये इस लग्न के व्यक्तियों का पन्ना रत्न धारण करना शुभ रहेगा. इसे धारण करने से व्यक्ति को कैरियर और स्वास्थय दोनों सुख प्राप्त होगें.   

तुला लग्न-

तुला लग्न के व्यक्तियों के लिये बुध नवम यानि भाग्य भाव और द्वादश यानि व्यय भाव के स्वामी है. बुध यहां भाग्येश होने के कारण अत्यधिक शुभ हो जाते है. इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति के जीवन के सभी क्षेत्रों की बाधाओं में कमी होगी.   

वृ्श्चिक लग्न-

वृ्श्चिक लग्न के लिए बुध अष्टम भाव और एकादश भाव के स्वामी है. इस लग्न के व्यक्तियों को पन्ना रत्न धारण करने से बचना चाहिए इसके स्थान पर मोती धारण करना इस लग्न के लिये बेहद शुभ रहेगा.    

धनु लग्न-

इस लग्न में बुध की स्थिति सप्तमेश और दशमेश की होती है. इस लग्न के लिये बुध मध्यम स्तरीय शुभ है. इसे धारण करने से फल भी मध्यम स्तर के ही प्राप्त होगें.
   

मकर लग्न-

मकर लग्न में बुध षष्ठ भाव और नवम भाव के स्वामी होते है. यहां बुध भाग्येश होने के कारण विशेष रुप से शुभ हो जाते है.  साथ ही लग्नेश शनि के मित्र भी है. इस लग्न के व्यक्ति इस रत्न को अवश्य धारण करें.      

कुम्भ लग्न-

कुम्भ लग्न में बुध 5वें और 8वें भाव के स्वामी है. इस लग्न के व्यक्ति शिक्षासंतान आदि विषयों को प्राप्त करने के लिये इस रत्न को धारण कर सकते है. 

मीन लग्न-

मीन लग्न के लिये बुध चतुर्थ और सप्तम भाव के स्वामी होते है. इस लग्न के लिये बुध सप्तमेश बुध मारकेश होते है. इस कारण से इसे बुध कि महादशा अवधि में ही धारण करना अधिक उचित रहता है.     

पन्ना रत्न के साथ क्या रत्न पहने..... ?

पन्ना धारण करने वाला व्यक्ति पन्ने के साथ-साथ एक ही समय में नीलमहीरा और इनके उपरत्न धारण कर सकता है.

पन्ना रत्न के साथ कोन सा रत्न  न पहने...?

पन्ना रत्न धारण करने वाले व्यक्ति को इसे धारण करने के बाद या इस रत्न के साथ मोतीमूंगा और माणिक्य धारण नहीं करना चाहिए. इसके अतिरिक्त पन्ना रत्न के साथ इन रत्नों के उपरत्न धारण करना भी अनुकुल नहीं रहता है.    

अगर आप अपने लिये शुभ-अशुभ रत्नों के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं ...तो अपने निकट के विद्वान ज्योतिषी जी से संपर्क करें या Astro Adviser पर अपनी जन्म तिथि, जन्म समय, जन्म स्थान तथा अपनी समस्या भेजकर  रत्न रिपोर्ट बनवायें. इसमें आपके कैरियरआर्थिक मामलेपरिवारभाग्यसंतान आदि के लिये शुभ रत्न पहनने कि विधी व अन्य उपाय की भी जानकारी मिल जायेगी..

अतः अपनी समस्याओं के समाधान के लिए आप AstroAdviser में जाकर कमेंट्स कर पूछ सकते है..

शुभमस्तु !! 

24 टिप्‍पणियां:

  1. :Akhilesh Singh Tomar (Raja)
    Janam patrika main naam hai Khemraj (Makar rashi )

    namaste pandit ji
    mera janm 3/12/1989 ko hua tha
    time 7 pm
    place gwalior mp
    day sunday
    mere liye subh ratna konsa rhega ...


    dhanyabad pandit ji
    Mene gomed ko gale m pehna hua kuch time se or mujhe chandi ala upaye kuch samajh nahi aya ap thoda mujhe bistar main bta payenge ....
    or mene jo gale main gomed pehna hua hai o neeli ke sath m gomed ko naagdar sarpakar akaar main pehena hua hai mujhe mere ik tauji ne meri kundli dekh ke pehenne ki salah di thi unhone kalsarp pitra dosh btaya tha but mujhe kuch khaas fayda najar nahi ata h avi mene kuch time se bich ki ungli main ik lohe ka shani likha hua challa bhi pehna hua h ap mujhe sahi satik or saral marg darshan dene ki kripa kare apka abhar rahega pandit ji bahut mehnat karta hu lekin progress pesa nahi ati h .
    Main B.tech +M.B.A...mere liye konsi field achi rhegi kab taraaaki hogi kya sahi h or kya nahi mujhe kuch v nahi pata hai main bhut asmanjas main rehta hu ...plz help me pandit ji

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार आपको राहू की महादशा चल रही है और राहू अष्टम भाव में हानि दे रहा है साथ ही राहू के शुक्र और चन्द्रमा भी है जिसके कारण जीवन की उन्नति रुक जाती है वाद विवाद होने लगते है और तुमने अपने गले में गोमेद और नीली के साथ पहना हुआ है जो कि पूर्णतः गलत कर रहा है नीली शनि का होने से अष्टमेश भी है मतलब आपने गले में शनि और राही के बल को धारण कर लिया है ये गलत है इसे उतार देने में ही भलाई है आप एक चांदी का एक इंच लंबा और एक इंच चौड़ा आठ ग्राम वजन का पीस ज्वेल्लर्स से बनवा ले उस चौकोर पीस को हमेशा अपने पास रखें तथा प्रतिदिन शाम के समय जब सूर्यास्त हो जाए तो कुत्तो को रोटी आदि खाने के लिए डालें ...इससे लाभ होगा तथा भाग्य वृद्धि होनी आरम्भ हो जायेगी

      हटाएं
  2. :Akhilesh Singh Tomar (Raja)
    Janam patrika main naam hai Khemraj (Makar rashi )

    namaste pandit ji
    mera janm 3/12/1989 ko hua tha
    time 7 pm
    place gwalior mp
    day sunday
    mere liye subh ratna konsa rhega ...


    dhanyabad pandit ji
    Mene gomed ko gale m pehna hua kuch time se or mujhe chandi ala upaye kuch samajh nahi aya ap thoda mujhe bistar main bta payenge ....
    or mene jo gale main gomed pehna hua hai o neeli ke sath m gomed ko naagdar sarpakar akaar main pehena hua hai mujhe mere ik tauji ne meri kundli dekh ke pehenne ki salah di thi unhone kalsarp pitra dosh btaya tha but mujhe kuch khaas fayda najar nahi ata h avi mene kuch time se bich ki ungli main ik lohe ka shani likha hua challa bhi pehna hua h ap mujhe sahi satik or saral marg darshan dene ki kripa kare apka abhar rahega pandit ji bahut mehnat karta hu lekin progress pesa nahi ati h .
    Main B.tech +M.B.A...mere liye konsi field achi rhegi kab taraaaki hogi kya sahi h or kya nahi mujhe kuch v nahi pata hai main bhut asmanjas main rehta hu ...plz help me pandit ji

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार आपको राहू की महादशा चल रही है और राहू अष्टम भाव में हानि दे रहा है साथ ही राहू के शुक्र और चन्द्रमा भी है जिसके कारण जीवन की उन्नति रुक जाती है वाद विवाद होने लगते है और तुमने अपने गले में गोमेद और नीली के साथ पहना हुआ है जो कि पूर्णतः गलत कर रहा है नीली शनि का होने से अष्टमेश भी है मतलब आपने गले में शनि और राही के बल को धारण कर लिया है ये गलत है इसे उतार देने में ही भलाई है आप एक चांदी का एक इंच लंबा और एक इंच चौड़ा आठ ग्राम वजन का पीस ज्वेल्लर्स से बनवा ले उस चौकोर पीस को हमेशा अपने पास रखें तथा प्रतिदिन शाम के समय जब सूर्यास्त हो जाए तो कुत्तो को रोटी आदि खाने के लिए डालें ...इससे लाभ होगा तथा भाग्य वृद्धि होनी आरम्भ हो जायेगी

      हटाएं
    2. ye upay kis din or kese karna hai

      हटाएं
    3. गोमेद शनिवार प्रातः मध्यमा उंगली में धारण करें तथा चांदी का चौकोर पीस सोमवार धारण करें

      हटाएं
    4. dhanyabad pandit ji gomed teen prakar ka btaya tha jab main puchne gya tha konsa ala lena h ...or chandi ka piece kis rang ke or kis dhatu ke dhge main pehenna hai or ye dono kab or kese dharan karna hai

      हटाएं
  3. dhanyabad pandit ji gomed teen prakar ka btaya tha jab main puchne gya tha konsa ala lena h ...or chandi ka piece kis rang ke or kis dhatu ke dhge main pehenna hai or ye dono kab or kese dharan karna hai

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सलोनी गोमेद ले

      चांदी का पीस काले धागे में धारण करना है

      धारण की विधि बता चुका हूँ फिर भी चांदी का पीस सोमवार और गोमेद शनिवार

      सीधे हाथ की मध्यमा उंगली में पहने

      हटाएं
  4. ab main sare upay apke nirdesha anusaar hi karunga sab kuch upay dowara se suru karunga jese jese ap btaya karenge ...dhanya bad pandit ji...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. भगवान् आपकी कामना पूर्ण करें

      हटाएं
  5. Mera naam deepak. Date of birth 11-11-1986. Baraut(baghpat),u.p. time of birth 06:55 am subhe ke kon kon se ratna pehnu aur kis-kis dhatu ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  6. Mera naam deepak. Date of birth 11-11-1986. Baraut(baghpat),u.p. time of birth 06:55 am subhe ke kon kon se ratna pehnu aur kis-kis dhatu ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  7. Deepak Raj जी आप की जन्म कुंडली अनुसार आप को शनि की महादशा 15/09/2019 तक चल रही है आप शनि देव का पूजन करें तथा पन्ना रत्न 5 कैरट का सोने की अंगूठी में बनवा कर दांये हाथ की कनिष्ठा (सबसे छोटी उंगली ) में शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार सुबह 7 से 8 बजे के मध्य धारण करें उससे भाग्य वृद्धि में सहायता मिलेगी

    उत्तर देंहटाएं
  8. Guruji panna mere liye thik rahega ki nahi Name santosh B Mohare Di. Aurangabad Maharastra B.date 18/12/1979 Time 7.30pm

    उत्तर देंहटाएं
  9. Nomoste pandit jii,
    Mai amit pal bangladesh se hun.ap hamari lagan kundali dekh lijiye.firbhi mai apse kuch information bhi detehe.Gemini Lagan yani mithun lagan ki kundali he mera.Lagan in 1st,ketu 4th house,Sukra+shani 6th house,Sun+Mercury 7th,guru 9th,moon+mar+rahu 10th.trikon ki theory me Budh+sukra+shani.budh ka ratan panna hamari liye labhdayak hoga bwo hamko pata he.lekin 6th house me acce grah por gaya(6 th is a trikstah yani bad house) to keya humko nilla or hira pahenna labhdayok rahega? in rules of parasara agar acce graha bura jaga trikstan pe chola gaya to bwo bura result hi detehe.Hamara kundali me brihaspati guru acce tar por he.to humko keya guru ka raton ke sath panna bhi dharan karna labhdayok hoga.
    dhonnobayd

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कृपया अपनी date of birth, time and birth place की पूरी जानकारी दें तभी बता सकेंगे

      हटाएं
  10. Namashkar

    Mera naam shailendra hai mera Chota sa hozariy ka bussneiss hai par me ab Tak life me setal nahi ho paya hu Sath hi mujhe charm rog bhi hai khash kar garmi se mujhe kon sa ratan dharan Karna chahiue

    Dob 15/06/1979. Time 3:45am place- jhabua m.p.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार अभी 02/04/2017 तक वृहस्पति महादशा में राहू की अन्तर्दशा चल रही है अतः भाग्य कमजोर हो रहा है इसीलिए आप प्रतिदिन श्री हनुमान चालीसा जी के तीन पाठ अवश्य करें तथा शाम के समय कुत्तो को कुछ ना कुछ खिलाएं इससे लाभ होगा अभी 02/04/2017 तक कोई रत्न लाभ नही देगा

      हटाएं
    2. अनिल जी
      धन्यवाद
      मै पिछले २ सालो से दुकान कर रहा हू परन्तु मुझे कोई फायदा नही हो रहा है क्या मै दुकान या स्थान बदलु अभी मै पेटलावद कस्बे मे दुकान कर रहा हु या मै कोई नया काम शुरू करू तो क्रपया मार्गदशर्न करे साथ ही मुझे चर्म रोग है जो काफी समय से है क्या इस का ज्योतिष मे कोई समाधान है तो बताए

      हटाएं
    3. जैसा कि आपको बताया कि 2 अप्रैल 2017 तक राहू की अन्तर्दशा चल रही है इसी कारण से जीवन में प्रत्येक क्षेत्र में बाधाये उत्पन्न हो रही है जब भाग्य कमजोर हो तो कहीं भी स्थान बदलो या ना बादलों लाभ नही होता है आप उपाय पर अपना ध्यान केन्द्रित करों उपाय से जल्दी लाभ होगा

      हटाएं
    4. आप पहले उपरोक्त दिए गए उपाय करें तो भगवान जल्दी लाभ देगा कुंडली अनुसार स्थिति दयनीय है लेकिन ईश्वर पर भरोसा रखों उपाय से सब ठीक हो जाएगा

      हटाएं
  11. में नाम सत्यनारायण है 10/5/1987है टाइम 11 बजे जन्म असथान :खड़सारी मैं कैन सा पथर पहने

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अपना जन्म समय स्पष्ट करों 11 बजे का टाइम सुबह का है या रात का ??????

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में