जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

सोमवार, 13 अक्तूबर 2014

मोमबत्ती द्वारा भाग्य जगाएं......


चीनी वास्तु फेंगशुई में मोमबत्ती की अहम भूमिका मानी गयी है. इसके द्वारा उर्जा का संतुलन किया जा सकता है. फेंगशुई में येंग और यिन नामक दो प्रकार की उर्जा कही गयी है. ये दोनों उर्जा न केवल एक दुसरे पर आश्रित है बल्कि एक दुसरे की पूरक भी है इन दोनों के बीच संतुलन होने से सुख समृद्धि की वृद्धि होती है. यिन उर्जा को पुरुष का प्रतीक माना गया है.

भारतीय मनीषियों ने भी माना है कि उर्जा का संतुलन रहने से सुख शान्ति का संचार होता है.यह अलग बात है कि हमारे पूर्वजों ने मोमबत्ती की ज्योति की जगह दीपक की ज्योति का वर्णन किया है.उनके अनुसार घर में दीपक की ज्योति जलने से सकारात्मक उर्जा का संचार होता है.

                                                          आगे पढ़ें.....

                                

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में