जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

गुरुवार, 21 अप्रैल 2016

जीवन को सुखी बनाएं....


हर व्यक्ति सुख चाहता हैं, दुःख से सभी भय खाते हैं, मनुष्य ही नहीं अन्य प्राणी भी सुख की कामना रखते हैं. खुले असमान में स्वछंद विचरण कर रहा पक्षी अपने को जितना सुखी महसूस करता हैं, उतना ही वह तब दुखी हो जाता हैं, जब वह एक पिंजरे मैं कैद हो जाता हैं, जहां तक मनुष्य कि बात हैं तो उसके सुख – दुःख के पैमाने अलग अलग हैं. 

लेकिन सही मायने वही मायने वही सुखी माना जायगा, जो अपने हालात से संतुष्ट हो. बहराल यंहां कुछ ऐसे आसान उपाय जो कि पिछले कई दशको से हमारे महापुरुषों ने समाज कि भलाई के लिए उपयोग किये व् उसका पूर्ण रूप से सफलता पूर्वक फल प्राप्त किया. मैं उन उपायों को आपके लिए लिख रहा हूँ.इसे करने के बाद आशा हैं कि आपको भी ईश्वर सफलता प्रदान करे,अतः मुझे अवगत अवश्य करें,ताकि मेरा उत्साहवर्धन हो और मैं अन्य जानकारी भी आपके सामने रख सकूँ. 

यह उपाय जीवन को और ज्यादा सुखी बनाने में सहायक हो सकते हैं.

(१)- प्रतिदिन गरम तवे पर रोटी सेकने से पहले दूध के छींटे मारे,इससे घर में बीमारी का प्रकोप कम होगा.

(२)- प्रत्येक वृहस्पतिवार को तुलसी के पोधे को थोड़ा सा दूध चढ़ा देने से घर में लक्ष्मी का वास होता हैं.

(३)- प्रतिदिन सवेरे पानी में नमक मिला कर पोंछा करे मानसिक शांति प्राप्त होगी.





(४)- प्रतिदिन सवेरे थोड़ा सा दूध और पानी मिलाकर मुख्य द्वार के दोनों और डाले, सुख शांति का अनुभव होगा.

(५)- मुख्य द्वार के परदे के नीचे ९ घुंघरू बांध देने से घर में प्रसन्नता का वातावरण बना रहेगा.

(६)- प्रतिदिन शाम को पीपल के पेढ़ को थोडा सा दूध-पानी मिलाकर चढा देने से व् दीपक जलाएं तथा मनोकामना के साथ पांच परिक्रमा करें, (रविवार को छोड़ दे) शीघ्र मनोकामना पूर्ण होगी.

(७)-प्रतिदिन सवेरे पहली रोटी गाय को, दूसरी रोटी कुत्ते को एवं तीसरी रोटी छत पर पक्षियों को डालें.इससे पितृ दोष से मुक्ति मिलती हैं.पितृ दोष के कारण प्राप्त कष्ट समाप्त हो जाते हैं
.
(८)- किसी भी शुभ चोघडीये में पांच किलो साबुत नमक एक थैली में डाल कर अपने घर में ऐसी जगह पर रख दे, जंहा पर पानी नहीं लगे. यदि अपने आप पानी लग जाय तो इसे कम में नहीं ले, फेंक दे.तथा नया नमक ला कर रख दे. यह घर के नकरात्मक प्रभाव को कम करता हैं एवं सकरात्मक प्रभाव को बढ़ाता हैं.


शुभमस्तु !!

4 टिप्‍पणियां:

  1. Namste pandit ji. Main bhut paresan rehti hu.. Life main kuch acha nhi hota bus akelapan feel krti hu.. Meri dob 17-09-1988 2.40 am ( raat ke time ka) saharanpur jamna place h ...plz koi upay btaye ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी जन्म कुंडली अनुसार आठवें भाव में राहू जीवन में परेशानी दे रहा है अतः एक चांदी का आठ ग्राम का पीस जो एक इंच लंबा और एक इंच चोडा लेकर हमेशा अपने पास रखें तथा प्रतिदिन भगवान सूर्य को जल दें तो जल्दी लाभ होगा

      हटाएं
  2. Mèra naam reshma hai kya mai pukhraaj aur moti eksath pehen sakti hu mera date of birth hai 13 july 1986. Plz muje msg kare is email id pe Reshma.1309@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आप अपने जन्म समय और जन्म स्थान का विवरण दें.....

      हटाएं

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में