जय श्री कृष्णः.श्री कृष्ण शरणं मम.श्री कृष्ण शरणं मम.चिन्ता सन्तान हन्तारो यत्पादांबुज रेणवः। स्वीयानां तान्निजार्यान प्रणमामि मुहुर्मुहुः ॥ यदनुग्रहतो जन्तुः सर्व दुःखतिगो भवेत । तमहं सर्वदा वंदे श्री मद वल्लभ नन्दनम॥ जय श्री कृष्णः

रविवार, 8 मई 2016

प्रेम सम्बन्ध कैसे बढ़ाएं...

कुण्डली में लग्न, पंचम, सप्तम तथा एकादश भावों से शुक्र का सम्बन्ध होने पर व्यक्ति में प्रेमी स्वभाव का होता है..हर युग में हर युवा दिल प्यार शब्द के लिए बहुत ही तेज दिल धडकता रहा है.हर व्यक्ति के दिल में
इच्छा होती है की सभी उस से प्यार करे. परन्तु क्या प्यार के लिए इतना ही काफी है की दो दिल एक दुसरे को प्यार करने लगे. बस यही से खुशनुमा ज़िन्दगी शुरू? परन्तु आपको तो पता ही होगा की किसी चीज़ को पाना कठिन हो सकता है परन्तु उसे संभाल कर रखना उससे भी ज्यादा मुश्किल. 

आज कल मेट्रो सिटीज यहाँ तक की छोटे-२ शहरो में यह समस्या आम हो गयी है की लोग अक्सर कहते मिलेंगे की उन्होंने जिस लड़की से प्यार किया वो बेवफा निकली.यह सिर्फ इस कारण होता है कि लोग अपने प्यार को संभाल नहीं पाते... मैं यह सिर्फ लडको के लिए ही नहीं कह रहा हूँ यह बात दोनों पक्षों के लिए है.

http://www.anilastrologer.blogspot.in/
 प्रेम किसी से भी हो सकता है, प्रेम प्रभु से भी होना चाहिए, 

 प्रेम माता पिता से तथा अपने कुटुंब क्र सभी सदस्यों से भी प्रेम आवश्यक है.

प्रेम एक ऐसा फल है जो हर मौसम में मिलता है और जिसे कोई भी पा सकता है.


आज इस लेख द्वारा प्रेम को संभालना और लम्बे समय तक इस प्रेम की सुगंध को प्राप्त करने के उपाय पर प्रकाश डाल रहा हूँ, कि हम अपने प्रेम को किस प्रकार से बढ़ा सकते है.

प्रेम बढ़ाने के लिए सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण उपाय ये है की अपनी वाणी और शब्दों में मिठास भरें, एक भी शब्द यदि मीठे भाव से किसी को बोल दो तो वह अपनी शत्रुता भी छोड़ सकता है अतः  अपनी भाषा में मिठास का रस घोलें,

Amethyst अमेथिष्ट रत्न:-  


यह परपल रंग का पारदर्शी रत्न होता है, ये रत्न वेलेंटाइन जो कि प्रेम के पर्याय पाश्चात्य युग में माने जाते है उन्होंने इसे धारण किया हुआ था.लेकिन ज्योतिष शास्त्र द्वारा इसे धारण करने से पूर्व किसी विद्वान ज्योतिषी से मार्गदर्शन अवश्य लें, तभी उंगली में धारण करें, लेकिन इस Amethyst को आप अपने पास जेब या पर्स में रख कर लाभ उठा सकते है, तथा Amethyst को किसी भी व्यक्ति को गिफ्ट देने से भी प्रेम सम्बन्ध में सुधार आने लगता है.यदि प्रेम में कोई बाधा उत्पन्न हो रही है तो इसे अपने पास निश्चित रूप से रखें कुछ दिनों बाद सुधार होता दिखने लगेगा तथा  पति-पत्नी में यदि मनमुटाव या किसी कारण से अनबन हो गयी हो तो इस Amethyst को अपने बेडरूम में तकिये के नीचे दोनों रखें, जल्दी इसका शुभ फल मिलेगा, 

Pink color. गुलाबी रंग:- 

प्रेम का प्रतीक है ये गुलाबी रंग, यदि प्रेम करने की चाह बिलकुल ख़त्म हो गयी हो या प्रेम करने का आत्मविश्वास बिलकुल ना हो या किसी अज्ञात भय से प्रेम  करने की इच्छा ना रही हो तो इस गुलाबी रंग का प्रयोग करें, किसी दुसरे को आकर्षित करने के लिए भी गुलाबी रंग सहायक बन जाता है, अतः आप गुलाबी रंग के वस्त्र, बेडशीट, अपने कमरे के पर्दें आदि लगा कर अपनी प्रेम शक्ति की वृद्धि कर सकते है.ऐसा गुलाबी रंग का अधिक प्रयोग करने से प्रेम संबंधों में भी सुधार होने लगता है.

Orange & Lychee,संतरा और लीची :--

ये दो फल प्यार को बढाते है, इनके द्वारा शुक्र और चंद्रमा के शुभ फलों में वृद्धि होती है,प्रेम प्राप्त करने के लिए इन दोनों फलों को जरुर खाना चाहिए, पति-पत्नी को लीची फल का अत्यधिक सेवन करना चाहिए इस से दोनों का विशवास बढ़ता है तथा एक दुसरे पर विशवास की वृद्धि होती है, संतरा आप अपने प्रेम को गिफ्ट कर सकते हो लेकिन लीची भूल कर भी गिफ्ट नही करनी चाहिए ये ध्यान रखें तभी प्रेम में सफलता मिलेगी.

Almond:बादाम:---

बादाम भी प्यार का प्रतीक माना जाता है,अप अपने प्रेम को मजबूत करने के लिए बादाम +शहद या बादाम + मिश्री को गिफ्ट दे सकते हो इस से प्रेम अटूट हो जाता है.पति-पत्नी अपने प्रेम बढाने के लिए एक दुसरे को बादाम और शहद खिलाएं फिर चमत्कार देखें सात जन्मों तक प्रेम ख़त्म नही होगा, यदि प्रेम सम्बन्ध में कोई ख़तरा मंडरा रहा हो तो अपने बेडरूम में एक बादाम को शहद में डुबों कर किसी कांच की शीशी में रख दें, लाभ होगा.

Tuberose:रजनी गंधा:----

यह एक चमत्कारिक प्रेम पुष्प के रूप में जाना जाता है,इन फूलों को गुलदस्ता बना कर यदि किसी को भेंट करोगे तो 100%  प्रेम में सफलता मिलेगी, ध्यान रहें की इस गुलदस्ते को किसी प्लास्टिक आदि से कवर नही करना अर्थात ढकना नही है  तभी असरकारक रहेगा.यदि इसके साथ गुलाबी रुमाल भी गिफ्ट किया जाए तो सोने में सुहागे की तरह से कार्य करेगा. 


इस प्रकार से यदि उपरोक्त वस्तुओं को बार बार भेंट करने से चाहे कोई पत्थर दिल भी होगा वो तुरंत पिघल कर एक प्रेममयी फूल बन जाएगा.... 


शुभमस्तु !!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने प्रश्न / comments नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर के लिखें

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में